गिरफ्तार किया गया व्यक्ति
एक गिरफ्तार किये गये व्यक्ति का काल्पनिक चित्र।

श्रीगंगानगर। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के अधिकारियों ने सोमवार को अनूपगढ़ में जीएसटी (वाणिज्य कर संग्रह विभाग) के कार्यालय पर छापा मारकर वहां एक अधिकारी को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। वहीं एक अधिकारी फरार हो जाने में भी कामयाब हो गया। उसकी तलाश के लिए छापेमारी की जा रही है। वहीं उसके निवास की तलाशी के दौरान 7.35 लाख की नकदी और भ्रष्टाचार के बड़े साक्ष्य मिले हैं। जिसके आधार पर जांच को आगे बढ़ाया जा रहा है।

प्रधानमंत्री मोदी का बड़ा कदम : चीनी एप्स पर लगाया प्रतिबंध

ब्यूरो की चौकी प्रभारी, एडीशनल एसपी राजेन्द्र प्रसाद ढिढारिया से प्राप्त जानकारी के अनुसार घड़साना कस्बे के व्यापारी प्रेम कुमार की ओर से शिकायत की गयी थी कि उसने जीएसटी रिटर्न दाखिल नहीं की तो पवन नामक जेसीटीओ उसको भारी जुर्माना लगाने की धमकी देकर 25 हजार रुपये की मांग कर रहा है। 15 हजार रुपये वह दे चुका है। वह रिश्वत नहीं देना चाहता। कार्यवाही की जाये।

राजस्थान के समाचार
पवन कुमार, जीएसटी अधिकारी।

श्री ढिढारया ने बताया कि इस शिकायत का सत्यापन करवाया गया और आज प्रात: ट्रैप करते हुए अनूपगढ़ स्थित जीएसटी कार्यालय से पवन नामक जेसीटीओ को 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। पवन कुमार ने यह बताया कि उसने यह राशि एसीटीओ हिमांशु शर्मा के लिए ली थी।

चीन के बहाने मोदी की राष्ट्रवादी छवि पर निशाना?

एसीटीओ उस समय तक अपने दफ्तर से फरार हो चुका था। उसकी तलाश की जा रही है। वहीं विनोबा बस्ती स्थित एसीटीओ शर्मा के निवास की तलाशी ली गयी तो वहां से 7.35 लाख रुपये की राशि बरामद हो गयी है।

फरार जीएसटी अधिकारी हिमांशु शमार्
हिमांशु शर्मा, जीएसटी का अधिकारी। एसीबी की कार्यवाही से बचकर भगा निकला।

उसके घर से एफडी से संबंधित दस्तावेज भी मिले हैं। इसके अलावा लॉकर आदि के बारे में भी देर शाम तक सर्च जारी थी।

भाजपा नेताओं पेड़ीवाल और रमजान अली चोपदार ने प्रदर्शन किया

उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किया गया जेसीटीओ घड़साना का ही रहने वाला है। उसकी पत्नी और भाभी सरकारी सेवा में अध्यापिका हैं। भाई बैंक अधिकारी है। पिता का व्यापार है। यह संयुक्त परिवार है। इस परिवार के बारे आय से अधिक स्रोत की स्पष्ट जानकारी नहीं मिल पायी।