एडीएम सिटी श्रीगंगानगर
श्रीगंगानगर एडीएम सिटी कार्यालय के बाहर चस्पा मिलने के समय को दर्शाने वाला नोटिस।

श्रीगंगानगर। राजस्थान में श्रीगंगानगर जिला प्रशासन के अधिकारियों से मिलना आम व्यक्ति के लिए आसान नहीं रहा है। कलक्टर के बाद अतिरिक्त जिला कलक्टर ने भी परिवादियों से मिलने के लिए एक घंटा निश्चत किया है। उससे पहले और उसके बाद उनको नहीं मिला जा सकता। एक कांग्रेसी सरपंच को उनके इस आदेश की जानकारी नहीं थी, वे उनके कैबिन में चले गये तो एडीएम ने उनसे मिलने से इन्कार कर दिया।

कलक्टर शिवप्रसाद नकाते ने जनता से मिलने के लिए समय निश्चित किया हुआ है। उनके पदचिन्हों पर हाल ही में नियुक्त किये गये एडीएम (सतर्कता)  भी चल रहे हैं। उन्होंने भी अपने कार्यालय के बाहर एक नोटिस चस्पा कर दिया है जिसमें वे प्रात: 11.30 से 12.30 बजे तक ही मिलते हैं।

अब पाकिस्तान जा रहा अपने हक का पानी रोक कर किसानों को देंगे: मोदी

राज्य सरकार ने एडीएम प्रशासन और सूरतगढ़ में एडीएम के पद पर किसी की नियुक्ति नहीं की है। यह दोनों पद रिक्त चल रहे हैं। एडीएम सतर्कता ही एक मात्र राज्य प्रशासनिक सेवा के उच्च अधिकारी पूरे जिले में हैं।

एडीएम सतर्कता से मिलने के लिए आज प्रात: एक कांग्रेस से जुड़ा सरपंच पहुंच गया। अपनी पार्टी की सत्ता होने के कारण वे एडीएम के कैबिन में चले गये तो एडीएम ने उनसे मिलने से इन्कार कर दिया। सरपंच को बाहर आना पड़ा।

श्रीगंगानगर में शराब की ओवररेट पर बिक्री, 17 दुकानों पर डिकॉय ऑपरेशन

इसी तरह से अनेक परिवादी धूप में खड़े रहकर जिला प्रशासन के अधिकारियों से मिलने का इंतजार करते रहते हैं। लोकतंत्र को सर्वोपरि मानने वाली कांग्रेस सरकार में लोक सेवक लोक को भूल चुके हैं और वे अपने कैबिन का दरवाजा तभी खोलने का हुकूम अपने सहायक कर्मचारी को देते हैं जब बाहर नोटिस किया गया समय, घड़ी बताती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here