अमेरिका की रिपब्लिकन लीडर पौम्पियो
अमेरिका के विदेशमंत्री माइक पोम्पियो। फाइल फोटो

वाशिंगटन। अमेरिका ने ईरान पर आर्थिक प्रतिबंधों को और कड़ा कर दिया है। इस संबंध में विदेश मंत्री माइकल पोम्पियो ने बयान जारी किया है।

श्री पोम्पियो के कार्यालय की ओर से जारी किये गये बयानों में कहा गया है कि, ईरानी शासन धातुओं के निर्यात से प्राप्त राजस्व का उपयोग नामित विदेशी आतंकवादी संगठन इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स तथा मध्य पूर्व और उससे आगे विभिन्न घातक गतिविधियों की फ़ंडिंग के लिए करता है। आज अपने अधिकतम दबाव अभियान के तहत अमेरिका ने ईरान के धातु उद्योग से जुड़ी आठ कंपनियों को प्रतिबंधों के लिए नामित किया है और उस इकाई पर भी प्रतिबंध लगाए हैं जिसने ईरान को उसके धातु संयंत्रों के लिए एक महत्वपूर्ण सामग्री हस्तांतरित की थी।

विशेष रूप से, अमेरिका ने तारा स्टील ट्रेडिंग जीएमबीएच, मेटिल स्टील, पैसिफ़िक स्टील एफ़ज़ेडई, बेटर फ़्यूचर जनरल ट्रेडिंग कंपनी एलएलसी, तुका मेटल ट्रेडिंग डीएमसीसी, साउथ एल्युमिनियम कंपनी, सरजन जहां स्टील कंपनी और ईरान सेंट्रल आयरन ओर कंपनी को कार्यकारी आदेश (ई.ओ.) 13871 के सेक्शन 1 (ए) के तहत नामित किया है, और उन्हें विशेष रूप से नामित विदेशियों और प्रतिबंधित व्यक्तियों की सूची (एसडीएन सूची) में शामिल किया है। इन कंपनियों को ईरान की उपक्रम मोबारके स्टील कंपनी, जिसकी परिसंपत्ति और परिसंपत्तियों में हित ई.ओ. 13871 के तहत प्रतिबंधित हैं, से संबद्धता और/या ईरान के लोहा, इस्पात एवं एल्यूमीनियम सेक्टरों में सक्रियता के लिए नामित किया गया है।

अमेरिका ने ग्लोबल इंडस्ट्रियल एंड इंजीनियरिंग सप्लाई लिमिटेड पर भी ईरान फ़्रीडम एंड प्रोलिफ़ेरेशन एक्ट की धारा 1245 के तहत प्रतिबंध लगाया है। 2019 में ग्लोबल इंडस्ट्रियल एंड इंजीनियरिंग सप्लाई लिमिटेड, जो चीनी मुख्य भूमि और हांगकांग में कार्यरत है, ने ईरान पहुंचाने के उद्देश्य से जानबूझकर 300 मीट्रिक टन ग्रेफ़ाइट इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ़ ईरान शिपिंग लाइन्स (आईआरआईएसएल) को हस्तांतरित किए थे, जोकि एसडीएन सूची में शामिल ईरानी कंपनी है। ईरान के धातु उद्योग के लिए ग्रेफ़ाइट एक महत्वपूर्ण सामग्री है। आज हम फिर से घोषणा करते हैं कि कोई भी व्यक्ति जो आईआरआईएसएल के साथ व्यवसाय करता है या ईरान को ग्रेफ़ाइट की प्रतिबंधित आपूर्ति को अंजाम देता है, उस पर प्रतिबंधों का ख़तरा है।

आज की महत्वपूर्ण कार्रवाई इन नामित संस्थाओं की परिसंपत्ति और परिसंपत्तियों में हितों पर रोक लगाती है और उन्हें अमेरिकी वित्तीय प्रणाली तक पहुंच से वंचित करती है। हम ईरान पर तब तक अधिकतम दबाव जारी रखेंगे जब तक कि ईरानी शासन एक सामान्य देश की तरह व्यवहार करना शुरू नहीं कर देता।