अमित शाह
गृह मंत्री अमित शाह

नई दिल्ली। गृहमंत्री अमित शाह को मेडिकल जांच के लिए एक बार फिर अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया है।

एम्स ने रविवार को बताया कि श्री शाह को संसद सत्र शुरू होने से पहले मेडिकल चेकअप के लिए एक या दो दिन के लिए एम्स में भर्ती कराया गया है।

श्री शाह को दो अगस्त को कोरोना संक्रमित होने पर गुरुग्राम के मेदांता में भर्ती कराया गया था। कोरोना को मात देकर वह 14 अगस्त को घर आ गए थे किंतु वायरस के बाद की स्वास्थ्य समस्याओं के कारण वह 18 अगस्त को एम्स में भर्ती हुए थे और उन्हें 30 अगस्त को छुट्टी मिली थी। एम्स का कहना है कि अस्पताल से छुट्टी दिये जाने के समय ही उन्हें मेडिकल जांच कराने की सलाह दी गयी थी, जिसे मानते हुए वह दोबारा एम्स में भर्ती हुए हैं।

राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान सहित अनेक नेताओं ने ट्वीट कर श्री शाह के शीघ्र ही स्वास्थ्य लाभ प्राप्त कर फिर से कार्य पर लोटने की प्रार्थना की है। वहीं सोशल मीडिया पर भी हजारों समर्थकों की ओर से श्री शाह के जल्द स्वस्थ होने की कामना वाले मैसेज प्रसारित हो रहे हैं।

 

कोरोना संक्रमण से उबरे मरीज जरूर खायें च्यवनप्राश

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने कोरोना संक्रमण से उबरे व्यक्तियों में बाद में आयी स्वास्थ्य समस्याओं को देखते हुए रविवार को उनके लिए नया प्रोटोकॉल जारी करते हुए उन्हें कोविड-19 अनुकूल व्यवहार का पालन करने, चिकित्सक के संपर्क में रहने, योग करने और चिकित्सक के परामर्श से रोज सुबह च्यवनप्राश खाने की सलाह दी है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने आज जारी प्रोटोकॉल में कई नसीहतें दी हैं लेकिन साथ ही यह स्पष्ट किया है कि कोई भी व्यक्ति इसे कोरोना संक्रमण से बचाव या कोरोना संक्रमण के उपचार के तरीके से रूप में न लें। यह प्रोटोकॉल विशेषकर कोरोना संक्रमण मुक्त व्यक्तियों के लिए तैयार किया गया है।

मंत्रालय ने कहा कि कोरोना संक्रमण से मुक्त होने वाले व्यक्तियों को थकान, बदन दर्द, खांसी, गले की खराश और सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्याएं हो सकती हैं। अभी तक कोरोना संक्रमण मुक्त व्यक्तियों को बाद में आने वाली शारीरिक तकलीफों की सीमित जानकारी उपलब्ध है और इस दिशा में अभी शोध किया जा रहा है। कोरोना संक्रमण को मात देने वाले व्यक्तियों के लिए बाद में उनकी देखभाल और बेहतरी के लिए कुछ नियमों का पालन जरूरी है, जिसे देखकर यह प्रोटोकॉल तैयार किया गया है।

मंत्रालय ने इसके लिए व्यक्तिगत स्तर, सामुदायिक स्तर और हेल्थकेयर फैसिलिटी के आधार पर तीन भागों में विभक्त करके सलाह जारी की है। मंत्रालय ने साथ ही चिकित्सकों के परामर्श के बाद कुछ आयुर्वेदिक दवाएं लेने तथा योग को अपनाने की सलाह दी है।

देश में 12 सितंबर को 10.72 लाख कोरोना नमूनों की जांच

नयी दिल्ली, 13 सितम्बर। देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच इसकी रोकथाम के लिए अधिक जांच पर लगातार जोर है और 12 सितंबर को दस लाख 72 हजार नमूनों की जांच की गई है।

पिछले दस दिन में सिर्फ सात सितंबर को ही दस लाख से कम सात लाख 20 हजार 362 कोरोना नमूनों की जांच की गई जबकि शेष दिनों में यह आंकड़ा दस लाख से ऊपर ही रहा है।

तीन सितंबर को आये आंकड़़ो में रिकार्ड 11 करोड़ 72 लाख 179 नमूनों की जांच की गई थी। यह देश में ही नहीं विश्व में भी एक दिन में सर्वाधिक जांच का रिकार्ड है।

भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के 13 सितंबर को जारी आंकड़़ो में 12 सितंबर तक कुल कोरोना नमूनों की जांच पांच करोड़ 62 लाख 60 हजार 928 पहुंच चुकी है। बारह सितंबर को दस लाख 71 हजार 702 नमूनों की जांच की गई।

 

एक लाख से अधिक कोरोना संक्रमितों वाला 14वां राज्य बना राजस्थान

राजस्थान एक लाख से अधिक संक्रमितों की संख्या वाला देश का 14वां राज्य बन गया है।

महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, बिहार, तेलंगाना, ओडिशा, असम, गुजरात, केरल के बाद राजस्थान में एक दिन में 1669 मामले सामने आने से कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 100,705 हो गई है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से रविवार को जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान देश में इस संक्रमण के 94,372 नये मामलों के साथ संक्रमितों का आंकड़ा 47,54,357 हो गया। वहीं 37,02,595 लोग अब तक संक्रमणमुक्त हुए हैं। देश में इस समय कोरोना के 9,731,75 सक्रिय मामले हैं।

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से आज जारी किये गये आंकड़ों के अनुसार देश के विभिन्न राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों में कोरोना से संक्रमितों की संख्या इस प्रकार है:

राज्य……………………सक्रिय………..स्वस्थ…………मौत

अंडमान और निकोबार..268………..3202…………..51

आंध्र प्रदेश…………..95733……….457008……..4846

अरुणाचल प्रदेश ……1712……….. 4253…………10

असम ……………….29133……….110885……….453

बिहार ……………….14396………..141499……….808

चंडीगढ़ ……………..2586………….4864………….92

छत्तीसगढ़ ………….33246…………27978…………539

दादरा नगर हवेली

और दमन दीव………279…………….2444…………..2

दिल्ली ……………..28059……….181295………..4715

गोवा ……………….5323…………18576…………..286

गुजरात ……………16301…………92678………..3195

हरियाणा …………..19446………..70713…………956

हिमाचल प्रदेश ……3194…………5962……………..73

जम्मू कश्मीर ……..16261………..35285………… 864

झारखंड……………14844…………45074…………542

कर्नाटक …………..97834………344556……….7161

केरल ……………..28870…………75844………..425

लद्दाख ……………..841……………2414…………..39

मध्यप्रदेश………….19840……….64398…………1728

महाराष्ट्र………….280138………728512………29115

मणिपुर …………..1584…………6102……………45

मेघालय………….1570………….2020…………….25

मिजोरम ………….591………….823………………0

नागालैंड ………….1215…………3839…………….10

ओडिशा …………30999……..115279………….616

पुड्डुचेरी…………..4847………..14228……………370

पंजाब …………19384………..55385……………2288

राजस्थान ……..16582………..82902…………..1221

सिक्किम ……….541………….1503……………….11

तमिलनाडु…….47110………441649………….8307

तेलंगाना ………31607………124528…………..961

त्रिपुरा …………7584…………11132…………….194

उत्तराखंड ……9781…………20153……………..402

उत्तरप्रदेश ……67955………233527…………..4349

पं बंगाल……..23521………172085………….3887

कुल ………. 973175……. 3702595………..78586