डॉ. सतीश पूनिया
गहलोत अपनी सरकार की असफलताओं को छुपाने के लिए मोदी पर तथ्यहीन आरोप लगाते है-पूनियां

जयपुर। राज्यसभा चुनावों को लेकर कल मतदान होना है और भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने इन चुनावों को काफी रोचक बना दिया है। उन्होंने कांग्रेस की आपसी दरार को जनता के सामने लाने के लिए दो उम्मीदवार मैदान में उतारे और इसके साथ ही कांग्रेस में आपसी कलह भी सामने आ गयी। सत्तारुढ़ दल होने के बावजूद विधायकों को पांच सितारा होटल में ठहराना पड़ा। दिल्ली से पार्टी के बड़े नेता पहुंचे।

राज्यसभा चुनावों को लेकर पिछले 15 दिनों से राजनीतिक सरगर्मियां काफी तेजी से चल रही हैं। तीन सीटों के लिए चुनाव मैदान में उतारे गये हैं। कांग्रेस ने पार्टी के वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल और नीरज डांगी को मैदान में उतारा है। वहीं भारतीय जनता पार्टी ने वरिष्ठ नेता राजेन्द्र गहलोत तथा नीरज डांगी को मैदान में उतारने का निर्णय लिया है।

कोरोना वायरस से मुक्ति दिलाने के लिए “ऑपरेशन-शाह” के मिलेंगे सकारात्मक नतीजे

कांग्रेस ने 13 निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन होने का दावा किया है। कांग्रेस के विधायक पांच सितारा होटल में ठहराये गये हैं। राज्यसभा चुनावों से पहले कांग्रेस सरकार ने आज कई बड़े निर्णय भी लिये। इसमें श्रीगंगानगर में एग्रीकल्चर कॉलेज खोलने का नोटिफिकेशन भी जारी किया गया है।

वहीं भारतीय जनता पार्टी भी अपने विधायकों को एकजुट करने के लिए कार्य करती हुई नजर आ रही है। पिछले दिनों विधायक दल के नेता गुलाबचंद कटारिया ने भी पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा था कि पार्टी में कोई मतभेद नहीं है और सभी भाजपा के दोनों प्रत्याशियों को विजयी बनाने के लिए मतदान करेंगे।

कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी के बीच विधायकों की संख्या का अंतर देखा जाये तो 20 से ज्यादा सीटों का है। सत्तारुढ़ होने के कारण छोटी पार्टियां भी कांग्रेस के साथ खड़ी दिखायी देती रही हैं।

राजनीति के जानकार मानते हैं कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने दो उम्मीदवार उतारकर, जो रणनीति खेली है, उससे कांग्रेस में आपसी कलह की दरारें दिखाई दी हैं। राजस्थान के वरिष्ठ मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने आज चीनी समानों के बहिष्कार का भी आह्वान किया।

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के खतरनाक मंसूबे

वहीं चुनावों से पहले एक जिले में केरोसीन घोटाले का भी मामला सामने आ गया। समाचार एजेंसी यूनिवार्ता ने समाचार दिया है कि बारां जिले में 12 हजार लीटर केरोसीन में गड़बड़ी की घटना सामने आयी है। इस जिले के प्रभारी मंत्री रसद मंत्री रमेश मीणा हैं।

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पत्रकार वार्ता के दौरान भाजपा पर खरीद फरोख्त का आरोप लगाया था।

भास्कार.कॉम ने समाचार दिया है कि कांग्रेस विधायक गिर्राज सिंह मलिंगा ने उन खबरों का खंडन किया है, जिनमें यह दावा किया गया कि मलिंगा ने विधायक खरीद-फरोख्त को लेकर कोई ऑडियो टेप मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को सौंपा है। भास्कर.कॉम के अनुसार, मलिंगा ने कहा- न तो मैंने विधायकों की खरीद को लेकर किसी तरह का कोई ऑडियो सीएम को सौंपा है और न ही इस मामले में उनसे कोई शिकायत की। उन्होंने कहा कि एक मीडिया हाउस से मुझे फोन कर इस बारे में पूछा तो मैंने सिर्फ यही कहा था कि अगर मेरे पास इस तरह की कोई जानकारी होगी तो सीएम को दूंगा।