रवि कुक्कड़ के चुनाव प्रचार ने गति पकड़ी

करीबन साढे चार सौ उम्मीदवार ने भरे पांच दिन में नामांकन
100 से ज्यादा भाजपा के बागी उम्मीदवार
प्रशासन को अब याद आया हथियार जमा नहीं हुए

श्रीगंगानगर। भारतीय जनता पार्टी के टिकट बंटवारे की प्रक्रिया से नाखुश होकर 100 से ज्यादा कार्यकर्ताओं ने बागी होकर निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन पत्र दाखिल कर दिया है। कांग्रेस में पहले ही टिकट प्राप्त करने के लिए ज्यादा उत्साह नहीं था इस कारणा वहां बागी कार्यकर्ताओं की संख्या कम है, लेकिन वह भी इसकी चपेट में है। आज आखिरी दिन जिला परिषद में भारी मेला लगा रहा। जिला परिषद की पुलिस ने चारों तरफ से घेराबंदी की हुई थी। मुख्य को छोडक़र शेष सभी द्वार को बंद कर, वहां पुलिस पहरा लगा दिया गया।


नगर परिषद चुनाव की अधिसूचना जारी होने के तुरंत बाद ही 1 नवंबर से नामांकन पत्र दाखिल करने का कार्य आरंभ हो गया था। आज आखिरी दिन करीबन अढ़ाई सौ प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र दाखिल किये। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि प्रत्याशियों की अत्यधिक भीड़ हो जाने के कारण तीन बजे तक फार्म जमा करवाने के लिए जमानत राशि की रसीद काट दी गयी थी किंतु फार्म जमा होने का कार्य रात 12 बजे तक ही पूर्ण हो पायेगा।

सरकारी प्रवक्ता के अनुसार, पांच दिनों के भीतर करीबन 450 लोगों ने नामांकन पत्र दाखिल किये हैं। हालांकि सही फिगर कल सुबह तक ही सामने आ सकता है क्योंकि फार्म जमा होने के बाद ही सही स्थिति का आकलन हो पायेगा।

जुलूस के रूप में पहुंचे अनेक प्रत्याशी
अनेक प्रत्याशियों ने नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया को ही शक्ति प्रदर्शन करने का मंच समझ लिया। अनेक वार्डस्तरीय नेता नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए अपने समर्थकों के साथ नारेबाजी करते हुए पहुंचे। उनकये समर्थकों को रोकने के लिए पुलिस ने बैरिकेटिंग्स की हुई थी, ताकि जिला परिषद के आसपास ज्यादा भीड़ नहीं हो। ऐसे में समर्थकों को अपने महबूबा नेता को नामांकन पत्र दाखिल करने का दृश्य देखना नसीब नहीं हो पाया।

कांग्रेस दोपहर दो बजे जारी कर पाई सूची

पुलिस के पुख्ता प्रबंध
पुलिस ने आज व्यापक सुरक्षा प्रबंध किये थे। पुलिस की घेराबंदी के कारण कोई भी छुटपुट घटना नहीं हो पाई। लोग शांतिपूर्ण तरीके से नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए लाइनों में लगे हुए नजर आये। हालांकि अनेक लोग ऐसे भी थे, जो पार्षद बनना चाहते थे किंतु उनको यह भी नहीं पता था कि जिला परिषद कहा हैं और फार्म कहां जमा होने हैं।

हथियार जमा करवाने के आदेश
वहीं प्रशासन ने आज बैठक कर पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को चेताया है कि श्रीगंगानगर नगर परिषद और सूरतगढ़ नगरपालिका क्षेत्र में जिन लाइसेंसधारी लोगों ने हथियार जमा नहीं करवाये हैं, ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनको हथियार जमा करवाने के लिए पाबंद किया जाये। उल्लेखनीय है कि विधानसभा और लोकसभा चुनावों के लिए समयपूर्व ही हथियार जमा करवा लिये जाते हैं लेकिन इस बार पालिका चुनावों में प्रशासन भूल गया।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here