कोतवाली पुलिस थाना
श्रीगंगानगर के डी ब्लॉक में वारदात को अंजाम देने वाले लोग पुलिस अभिरक्षा में।

श्रीगंगानगर। राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में एक युवक ने युवती का गला दबाकर हत्या कर दी। युवती के विवाह की भी तैयारियां की जा रही थीं। पुलिस ने युवक के घर से युवती की लाश को बरामद करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

सूरतगढ़ सिटी थाना पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार वार्ड नं. 4 में एक युवती का शव बरामद हुआ। यह शव घनश्याम ओड नामक युवक के घर से मिला। हत्या का आरोप भी घनश्याम पर लगा है।

घनश्याम की आयु मात्र 19 साल है। दोनों के बीच कथित रूप से अंतरजातीय प्रेम-प्रसंग चल रहा था।

श्रीगंगानगर शुगर मिल को ठेके पर देने की तैयारी, कर्मचारियों के स्थानांतरण के समाचार

शुक्रवार दोपहर को युवती, घनश्याम के घर पर गयी थी। वहां पर दोनों के बीच में तकरार हुई। इसके बाद घनश्याम ने गला दबाकर हत्या की वारदात को अंजाम दे दिया। एसआई भूपसिंह का कहना है कि युवक को हिरासत में ले लिया गया है। युवती के पिता दर्शनसिंह की रिपोर्ट के आधार पर मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। युवती के कुछ फोटो भी युवक के पास होने की जानकारी मिली है, उसकी बरामदगी के प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने यह भी बताया कि युवक नशा करने का आदी है।

श्रीगंगानगर में लूट की वारदात का खुलासा

जिला मुख्यालय पर गुरुवार दोपहर को हुई लूट के मामले का राजफाश कर दिया गया है। पुलिस अधीक्षक हेमंत शर्मा ने पत्रकार वार्ता में इसकी जानकारी दी। उनका कहना है कि इस गिरोह का सरगना भवन मालिक जितेन्द्र वर्मा का पुराना कर्मचारी निकला। एसपी का कहना है कि आरोपी गुरजीतसिंह को इस बात का ज्ञान था कि जितेन्द्र वर्मा के घर से बाहर जाने के उपरांत घर में केवल महिलाएं रह जाती हैं। इस कारण उसने चार अन्य लोगों के साथ मिलकर लूट की वारदात की योजना बनायी। उन्होंने बताया कि सभी पांचों आरोपितों को अदालत में पेश कर रिमांड लिया जायेगा।

कोरोना माहामारी को लेकर मुख्यमंत्री ने की गंगानगर की सराहना

उल्लेखनीय है कि गुरुवार दोपहर को डी ब्लॉक निवासी जितेन्द्र वर्मा के घर पर अज्ञात चार युवकों ने लूट की वारदात को अंजाम देने का प्रयास किया था। घर की महिलाओं को बंधक बना लिया गया था। एक रिक्शा चालक ने मोहल्लावासियों की मदद से दो युवकों को दबोच लिया। इनसे पूछताछ हुई तो वारदात का राजफाश हो गया।

कोतवाली पुलिस थाना के एसएचओ गजेन्द्रसिंह, सीओ सिटी इस्माइल खां और अन्य अधिकारी भी मौके पर मौजूद थे। इन अधिकारियों की मेहनत की बदौलत यह वारदात 24 घंटे में ही खुल गयी।

बालक और उसके माता-पिता को मिला अवकाश

जवाहरनगर के सैक्टर नंबर दो से जिला अस्पताल के कोविड वार्ड में भर्ती हुए 19 माह के बालक, उसके माता-पिता तथा दादी मां को आज अस्पताल से छुट्‌टी दे दी गयी। सभी को दोपहर बाद डिस्चार्ज कर दिया गया। सीएमएचओ ने बताया कि बालक, उसके माता-पिता तथा दादी मां कोरोना संक्रमण से मुक्त हो गये थे। इस कारण सभी को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया।

उल्लेखनीय है कि एक सप्ताह पहले यह परिवार जिला अस्पताल में भर्ती हुआ था। बालक और उसके माता-पिता दिल्ली से आये थे।

श्रीगंगानगर में तीन महिलाओं को बंधक बनाकर लूट का प्रयास

डॉ. केएस कामरा
श्रीगंगानगर जिला अस्पताल से डिस्चार्ज किये गये मरीज पर पुष्प वर्मा करते चिकित्सा अधिकारी।

दूसरी ओर दिल्ली रिटर्न एक अन्य प्रवासी श्रमिक भी कोरोना से मुक्त हो गया है। इसको आज प्रात: अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। अस्पताल के पीएमओ डॉ. केएस कामरा, सीएमएचओ डॉ. गिरधारीलाल मेहरड़ा तथा अन्य डॉक्टर्स ने इस युवक पर फूलों की बरसात की और उसके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की।

श्रीगंगानगर कोरोना अपडेट : बालक को कल उसके घर शिफ्ट करने की तैयारी

शुक्रवार को 92 लोगों के सैम्पल लिये गये। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. गिरधारीलाल मेहरड़ा ने बताया कि जिला मुख्यालय पर बने एक क्वारेंटाइन सेंटर में 72 लोगों की सैम्पलिंग शुक्रवार को की गयी। यह सभी प्रवासी लोग हैं। इसी तरह से सादुलशहर में भी रैंडम सैम्पल लिये गये। इन सभी सैम्पलस को जांच के लिए बीकानेर भेजा गया है। वहां से रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद आगामी कार्यवाही की जायेगी।