मोबाइल पैमेंट कंपनी पेटीएम की केवाईसी के नाम पर ठगी

 थाने और एसपी दफ्तर के चक्कर काटने पर भी नहीं मिली राहत
श्रीगंगानगर। मोबाइल वॉलेट सेवा प्रदाता कंपनी पेटीएम के नाम से केवाईसी का ब्लैक मैसेज भेजकर श्रीगंगानगर में अनेक लोगों को ठगी का शिकार बना लिया गया। ठगी का शिकार पुलिस थाने के चक्कर काट आये लेकिन एफआईआर नहीं हुई। पेटीएम कंपनी के हेल्पलाइन नंबर भी काम नहीं आये।

जो जानकारी सामने आयी है, उसके अनुसार राजकीय मंत्रालयिक कर्मचारी संजीव सिंह और कई लोगों को विगत दिवस ठगी का शिकार बना लिया गया। संजीव सिंह बताते हैं कि उनके पास केवाईसी के लिए मैसेज आया और देखते ही देखते उनके बैंक खाते से 25 हजार रुपये पार हो गये। इसकी जानकारी उन्होंने जवाहरनगर थाना पुलिस को दी। एसपी दफ्तर भी गये लेकिन वहां भी सुनवाई नहीं हुई।

टिड्डी दल पहुंचा बिजयनगर, सरकारी प्रयास नाकाम

दूसरी ओर सैक्टर 17 मार्केट के संस्थापक बाघसिंह बागड़ी ने बताया कि उनके बैंक खाते से 39 हजार रुपये पार हो गये। श्री बागड़ी के अनुसार उनके बैंक खाते से पहले 5 हजार, फिर पांच हजार, फिर चार हजार और आखिर में 25 हजार रुपये निकल गये। इसके तुरंत बाद उन्होंने अपना बैंक खाता फ्रिज करवा दिया। इस दौरान उनके बैंक खाते से कुल 39 हजार रुपये निकल गये।
उनका यह भी कहना है कि वे भी जवाहरनगर पुलिस थाना में रिपोर्ट देकर आये। इसके बावजूद न तो उनकी एफआईआर हुई और न ही पैसे वापिस मिलने की उम्मीद रही है। इसी तरह से अनेक अन्य लोग भी ठगी का शिकार हुए हैं। जो विभिन्न थानों के चक्कर काट आये हैं लेकिन मुकदमा दर्ज नहीं हुआ।
इस मामले में निराश लोग पुलिस अधीक्षक हेमंत शर्मा से भी मिलकर आये। संजीव सिंह बताते हैं कि एसपी से मिलने के उपरांत भी एफआईआर दर्ज नहीं हुई है। जवाहरनगर पुलिस ने एक औपचारिकता को पूर्ण करते हुए एक ईमेल पेटीएम कंपनी को की है। पुलिस ने फ्रॉड करने वाले व्यक्ति के मोबाइल नंबर लेकर जांच करने तक की बात नहीं की। उल्लेखनीय है कि जवाहरनगर थाने के एसएचओ आरपीएस हैं।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here