पुलिस के समाचार
अवसाद से ग्रसित एक व्यक्ति का काल्पिनक चित्र।

श्रीगंगानगर। राजस्थान पुलिस के एक और कर्मचारी ने खुद को गोली मारकर आत्महत्या का प्रयास किया। उसको गंभीर हालत में जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। वहां से उसको एक निजी अस्पताल रैफर कर दिया गया।

जो जानकारी सूत्रों ने दी है, उसमें बताया गया है कि श्यामनगर में भारत की खुफिया एजेंसी रॉ के सरकारी दफ्तर में गार्ड की ड्यूटी करने वाले पुलिस के कर्मचारी ने मंगलवार देर रात को खुद को गोली मार ली।

श्रीगंगानगर : बसंती चौक बनने लगा हॉटस्पॉट, एक और व्यक्ति निकला कोरोना पॉजिटिव

उसको अस्पताल लाया गया तो उसकी छाती में दो गोली लगी हुई थी। उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। इस कारण उसको हनुमानगढ़ बाइपास के पास स्थित निजी अस्पताल रैफर कर दिया गया।

एक हवलदार के खुद के गोली मारने की सूचना मिलने के कुछ समय बाद ही पुलिस के उच्चाधिकारी भी घटनास्थल तथा अस्पताल पहुंचने लग गये थे।

कोरोना पॉजिटिव के 9 नजदीकी सम्पर्क में आने वाले लोगों के लिये सैम्पल

वहां से उसको मेदांता अस्पताल ले जाया गया है। एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि हवलदार बेहोशी की हालत में था। इस कारण उसके बयान नहीं लिये जा सके हैं।

पुलिस अधिकारी विष्णुदत्त बिश्नोई आत्महत्या प्रकरण : सरकारी सिस्टम सवालों में

सदर थाना पुलिस ने बताया कि घायल पुलिस हवलदार की पहचान जसविन्द्रसिंह के रूप में हुई है। पुलिस के अनुसार रॉ गार्ड में यह हवलदार इंचार्ज के पद पर नियुक्त थे।

उल्लेखनीय है कि दो दिन पहले ही राजस्थान पुलिस के निरीक्षक विष्णुदत्त बिश्नोई ने चुरू जिले के राजगढ़ एसएचओ रहते हुए खुद को फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी।