'ट्रिपल एÓ के जरिए आमजन तक पहुंचाई जाएंगी होम्योपैथिक दवाएं

-चिकित्सा मंत्री ने की प्रदेश में पहला सरकारी होम्योपैथी कॉलेज खोलने की घोषणा
श्रीगंगानगर। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि अन्य चिकित्सा पद्धतियों के साथ लोगों में होम्योपैथी के प्रति भी विश्वास बढ़ रहा है। यही वजह है कि सरकार ने 24 तरह की होम्योपैथी दवाओं को ‘ट्रिपल ए’ यानी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा सहयोगिनी और एएनएम के जरिए आमजन तक पहुंचाने की योजना बनाई है। इसके लिए सभी कार्यकताओं को पहले प्रशिक्षण देकर तैयार किया जाएगा।

डॉ. शर्मा बुधवार को जयपुर में ‘होम्योपैथी के सार्वजनिकरणÓ कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने अगले बजट में राज्य में एक सरकारी होम्योपैथी कॉलेज खोलने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का सपना ‘निरोगी राजस्थानÓ बनाने का है। विभाग इसमें कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेगा। उन्होंने कहा कि 2011 में प्रदेश में ‘निशुल्क दवा योजनाÓ की शुरुआत की थी। आज देश के 16 राज्यों में प्रदेश सर्वोच्च पायदान पर काबिज है। उन्होंने कहा कि सरकार निशुल्क जांच योजना को भी और मजबूत बनाने के प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि सरकार आमजन को स्वस्थ रखने के हरसंभव प्रयास कर रही है।

यूथ कांग्रेस की प्रधानगी के चुनाव संपन्न

सरकार आमजन को चिकित्सा अधिकार दिलाने के लिए भी प्रतिबद्ध है और अगले बजट में ‘राइट टू हैल्थÓ बिल भी विधानसभा में लाएगी। उन्होंने कहा कि विभाग होम्योपैथी सहित सभी पैथियों में नवाचार कर रहा है। सरकार ने प्रदेश में हुक्का बार, ई-सिगरेट पर प्रतिबंध लगाकर युवाओं को लती होने से बचाया। यही नहीं प्रदेश के एक करोड़ 14 लाख युवा नशा नहीं करने की शपथ भी ले चुके हैं। उन्होंने कहा कि रक्तदान को भी सरकार ने एक मुहीम की तरह ही लिया। गत दो अक्टूबर को महात्मा गांधी जयंती के अवसर पर प्रदेशवासियों ने करीब 18 हजार यूनिट रक्तदान दिया। इस अवसर पर एक लाख 75 हजार युवाओं ने रक्तदान का संकल्प भी लिया।