भिड़ंत से तीन वाहनों में आग लगने से जिंदा जलने वालों की पहचान

– मृतक गुरुसर मोडिया निवासी पिता-पुत्र थे
– मृतक पिकअप चालक के साथी ने दर्ज करवाया दुर्घटना का मामला
हनुमानगढ़। जिले में मेगा हाईवे पर रावतसर के समीप मंगलवार देर शाम को ट्रक-पिकअप और ट्रक-ट्रेलर में भीषण भिड़ंत के बाद लगी आग में जिंदा जल जाने से जिन दो व्यक्तियों की मौत हुई, वह पिता-पुत्र हैं। पिता-पुत्र ट्रक ट्रेलर लेकर रावतसर से हनुमानगढ़ की तरफ आ रहे थे। ट्रेलर में एक और युवक भी सवार था, जो बाल-बाल बच गया। पुलिस के अनुसार ट्रेलर में गुरुसर मोडिया निवासी राजवीरसिंह उर्फ राजू और उसका पुत्र भम्मी उर्फ पवन तथा इसी गांव का एक युवक लवप्रीत पुत्र नायब सिंह सवार थे। कल शाम 6:30 बजे रावतसर से हनुमानगढ़ की तरफ लगभग 4 किमी दूर एक मैरिज पैलेस रिसॉर्ट्स के पास सामने से ईंटों से लदे आ रहे ट्रक से टक्कर होते ही। दोनों वाहनों में आग लग गई। ईंटें लदे ट्रक के पीछे शराब से लदी पिकअप गाड़ी भी दोनों ट्रकों में टकरा गई। तीनों वाहनों में आग लग गई।

पुलिस के अनुसार पिकअप चालक बलवानराम गोदारा निवासी राखी रामसरा, भादरा की मौके पर ही मौत हो गई। पिकअप में सवार भादरा निवासी सुमेरसिंह पुत्र मगनीराम द्वारा दी गई रिपोर्ट के आधार पर दुर्घटना का मामला दर्ज किया गया है। मनीराम के मामूली चोट आई है। ट्रक ट्रेलर रावतसर की ओर से खाली हनुमानगढ़ की तरफ जा रहा था। उसकी टक्कर लगने से ईंटो से लदा ट्रक पलट गया। तभी उसके पीछे आ रही पिकअप गाड़ी भी टकरा गई। पिकअप गाड़ी में देसी और अंग्रेजी शराब लदी हुई थी। यह हादसा होते ही मौके पर जुटी भीड़ शराब को उठा ले गई। शराब की काफी बोतलें टूट-फूट दी गईं।

शराब की जांच करने के लिए हनुमानगढ़ से आबकारी निरीक्षक मधु उज्जवल मौके पर पहुंची। जानकारी के अनुसार यह शराब हनुमानगढ़ में सरकारी डिपो से डूंगराना के ठेके पर ले जाई जा रही थी।कल देर रात को हनुमानगढ़ के जिला कलेक्टर जाकिर हुसैन और पुलिस अधीक्षक राशि डोगरा ने घटनास्थल पर पहुंचकर इस हादसे के बारे में विस्तृत जानकारी प्राप्त की। उन्होंने हॉस्पिटल में जाकर घायलों से भी पूछताछ की।जिला कलेक्टर जाकिर हुसैन ने मृतकों के आश्रितों को एक-एक लाख और घायलों को उपचार के लिए 25-25 हजार रूपए मुख्यमंत्री सहायता कोष से जारी करने के निर्देश दिए हैं। उधर, रावतसर में पुलिस ने आज तीनों मृतकों के शव पोस्टमार्टम करवाकर परिवार वालो को सौप दिए हैं। पुलिस ने आज सुबह दोबारा घटनास्थल पर जाकर इस हादसे की जांच पड़ताल की।बताया जा रहा है कि ईंट से लदे ट्रक का टायर फट जाने से वह अनियंत्रित हो गया। यह ट्रक सामने से आ रहे ट्रक ट्रेलर में जा टकराया।

गंदे पानी के खड़े रहने से मुख्य सड़क का हुआ सत्यानाश

श्रीगंगानगर जिले में सूरतगढ़ सदर थाना अंतर्गत गुरुसर मोडिया गांव में शोक की लहर छा गई। पुलिस के अनुसार ट्रक ट्रेलर में जिंदा जलने से मारे गए राजवीर उर्फ राजू और उसके पुत्र पवन के शव परिवार वालों को सौंप दिए गए आज शाम इनका गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार कर दिया गया। ट्रक ट्रेलर में इनके साथ सवार लवप्रीत भी घायल हुआ है लेकिन वह हादसा होते ही ट्रेलर के कैबिन में से निकल जाने में कामयाब हो गया। जब दोनों ट्रकों में भिड़ंत हुई तो आग लग जाने पर ट्रेलर में सवार व्यक्ति जोर-जोर से बचाओ बचाओ चिल्लाने लगे। नजदीक की एक ढाणी से सोनू कंबोज और उसके साथी भाग कर आए। उन्होंने पिकअप के चालक बलवान और मनीराम को बाहर निकाला। इसके बाद ट्रक ट्रेलर में फंसे व्यक्तियों को बाहर निकालने में लोग जुट गए। लवप्रीत को निकाल लिया गया लेकिन तभी आग ने विकराल रूप धारण कर दिया। इन वाहनों के तेल टैंक फटने जाए, इस डर से लोग दूर हो गए।

इसी कारण ट्रक ट्रेलर में फंसे पिता-पुत्र को बचाया नहीं जा सका। इस भीषण दुर्घटना ने हनुमानगढ़ में फायर ब्रिगेड की पोल खोल दी है।सूचना मिलने पर हनुमानगढ़ से दमकल कर्मी दो फायर टेंडर लेकर घटनास्थल को रवाना हुए। एक फायर टेंडर वाहन रास्ते में खराब हो गया। दूसरा मौके पर पहुंचा तो उसकी पाइप नहीं चली। बाद में खराब हुए फल टेंडर को ठीक करके घटनास्थल पर लाया गया। इस चक्कर में लगभग एक घंटा खराब हो गया। तब तक तीनों वाहन लगभग पूरी तरह से जल गए थे। आग बुझाने के लिए रावतसर और नोहर से दमकल वाहन मंगवाए गए।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here