दलीप कुमार जाखड़ आईपीएस
सेवानिवृत्त आईपीएस दलीप जाखड़।

जयपुर। भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी रहे और श्रीगंगानगर के मूल निवासी, दलीप जाखड़ ने जनरल रैंक का त्याग कर समाजसेवा को जीवन ज्योत के रूप अपनाने का निर्णय किया है। जनरल रैंक का पद भी समाजसेवा के रास्ते में अटक नहीं पाया। वे 3 जनवरी को रिटायरमेंट लेकर अब समाज के प्रति समर्पित हो चुके हैं।

राज्य लोक सेवा आयोग की परीक्षा उत्तीर्ण करते हुए श्रीगंगानगर की पुरानी आबादी निवासी दलीप जाखड़ आरपीएस बने। उप अधीक्षक के रूप में उन्होंने पुलिस में कैरियर आरंभ किया। सच्ची लगन और निष्ठा के साथ उन्होंने कार्य किया और नियमित समय पर उन्हें पदोन्नति मिलती रही। हनुमानगढ़ में एडीशनल एसपी के पद पर कार्यरत थे, उस समय उनको आईपीएस के रूप में पदोन्नति मिली। वे पुलिस अधीक्षक के पद पर अनेक स्थानों पर नियुक्त रहे। जेल डीआईजी जोधपुर के पद को भी संभाला और सेवानिवृत्ति के समय वे एसीबी में नियुक्त थे। एसीबी मुख्यालय में वे उप महानिरीक्षक के पद पर थे। उन्हें कुछ माह बाद ही महानिरीक्षक के रूप में भी पदोन्नति मिलने वाली थी।

सेना हो या पुलिस, जनरल रैंक का पद बहुत ही सम्मानजनक होता है और उस पद को मिलने वाले सम्मान का त्याग करना आसान कार्य नहीं होता। निर्धारित अवधि में सेवानिवृत्त होना, एक सामान्य प्रक्रिया होती है किंतु पद को त्यागकर वीआरएस लेना एक कठिन निर्णय होता है।

तबलीगी जमात : भारत के साथ मलेशिया-सिंगापुर तक कोरोना का प्रचार

जनरल रैंक से रिटायर होने वाले दलीप जाखड़ बताते हैं कि वे सामाजिक जीवन के प्रति अपना ध्यान लगाना चाहते थे, इस कारण उन्होंने पुलिस सेवा को त्यागने का बड़ा निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारियों की घोषणा करेंगे।

ऐसे बहुत कम मौके देखने को मिलते हैं जब उच्च रैंक का अधिकारी सिर्फ इसलिए रिटायर्डमेंट ले कि उसको समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को निभाना है।

श्री जाखड़ ने कोरोना वायरस में कार्यरत कर्मचारियों के माध्यम से समाज के प्रति अपने समर्पण भाव को प्रदर्शित करना भी आरंभ कर दिया है। मंगलवार को उन्होंने कुछ अन्य लोगों के साथ मिलकर भोजन पैकेट्स वितरित किये।

सफाई कर्मचारियों को भोजन किट उपलब्ध करवाते दलीप कुमार जाखड़।

उपलब्ध करवायी गयी जानकारी में बताया गया है कि कोरोना महामारी संबंधी ड्यूटी में लगे  पुलिसकर्मी, सफाईकर्मी, व अन्य कर्मियों के खाने- पीने की समस्या को देखते हुए जयपुर में गांधीनगर के नागरिकों द्वारा उन्हें खाने के पैकेट दिए गए। मरीजों व प्रवासी मजदूरों की सहायता के लिए तो सरकार व अन्य संस्थान आगे आए हैं, पर पुलिस व सफाईकर्मियों आदि को खाने पीने की दुकानें बंद होने से समस्या आ रही है।

दलीप कुमार जाखड़
कोरोना वायरस नामक महामारी से बचाव के लिए ड्यूटी कर रहे पुलिस कर्मचारियों को भोजन उपलब्ध करवाते दलीप जाखड़।

सेवानिवृत्त डी.आइ.जी. श्री दिलीप जाखड़, डा. आयुष व चेतक प्रभारी श्री राजेश मीणा व भवानी न्यूज़ के मीडियाकर्मी श्री भवानी सैनी ने पुलिसकर्मियों, सफाईकर्मियों, फायर ब्रिगेड व अन्य सेवाओं में लगे कर्मियों का आभार व्यक्त करते हुए उन्हें यह सामग्री बांटी। यह वितरण बाज़ार खुलने तक जारी रहेगा।