नई दिल्ली। इरान और अमेरिका के बीच चल रहे युद्ध जैसे तनाव के बीच इरानी विदेशमंत्री जावेद जारीफ भारत पहुंचे। वे बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात करेंगे। वे रायसीना नामक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आये हैं। इस कार्यक्रम के इतर वे भारतीय विदेशमंत्री एस जयशंकर से भी मुलाकात करंगे। दोनों देश गुरुवार को नाशते की टेबल पर साथ होंगे। उनका मुम्बई जाने का भी कार्यक्रम है।

क्या पाक विदेश मंत्री आज माइक पोम्पियो से मुलाकात करेंगे?

इरान और अमेरिका के बीच नये साल की शुरुआत के साथ ही तनाव बढ़ता जा रहा है। अमेरिका की आर्थिक प्रतिबंधों को ईरान ने आर्थिक आतंकवाद का नाम दिया था क्योंकि इससे इरानी मुद्रा रसातल में चली गयी है। अमेरिकी प्रतिबंधों के कारण भारत सहित उसके अनेक परंपरागत मित्रों ने कच्चे तेल की खरीद को बंद कर दिया है।

अमेरिका और ईरान के बीच तनाव को कम करने के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रयास जारी हैं। भारत भी अपनी जिम्मेदारी को निभाते हुए दोनों देशों से संयम बरतने का आग्रह कर चुका है।

इस बीच विदेश मंत्री जावेद जारीफ भारत पहुंचे हैं। उनका बुधवार 15 जनवरी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात का कार्यक्रम है। वे विदेशमंत्री से भी गुरुवार को मिलेंगे।

नई दिल्ली में चल रहे अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रम रायसीना डॉयलोग में शामिल होने के लिए जावेद जारीफ (Javad zarif) भारत आये हैं। इस कार्यक्रम में विश्व के अनेक देशों के प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। श्री जारीफ का शु्क्रवार को मुम्बई जाने का भी कार्यक्रम है, जहां वे भारतीय व्यापारियों से मुलाकात करेंगे। भारत ने ईरान ने भारी निवेश किया हुआ है। चाबहार बंदरगाह में भारतीय निवेशकों ने कई अरब रुपये निवेश किये हुए हैं। भारत के लिए यह सामरिक रूप से भी महत्वपूर्ण है। ईरान-अमेरिका के बीच तनाव के कारण भारत को आर्थिक रूप से भी भारी नुकसान होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here