राष्ट्रपति डोनालड ट्रम्प और उपराष्ट्रपति माइक पेंस।

वाशिंगटन। अमेरिका में आगामी 3 नवंबर को होने वाले चुनावों से पूर्व प्रचार तेज गति से चल रहा है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता जोई बिडेन प्रचार कार्यों में व्यस्त हैं।

विश्व को प्रभावित करने वाली महिलाओं में एंजेला के साथ अर्डर्न और इवांका भी लोकप्रिय

राष्ट्रपति श्री ट्रम्प ने कहा है कि उनकी हेल्थकेयर योजना ओबामा प्रशासन से बेहतर होगी। वे फ्लोरिडा में एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे।

फ्लोरिडा राज्य में अपने हजारों समर्थकों को संबोधित करते हुये ट्रम्प ने बेमियादी लॉकडाउन लागू करने की वकालत करने वालों का पुरजोर विरोध करते हुये कहा है कि इलाज, समस्या से बदतर नहीं होना चाहिए।  ‘हमें याद रखना होगा कि मैंने एकदम शुरूआत में ही यह बात कही थी । निदान समस्या से बदतर नहीं हो सकता है । नहीं हो सकता !’ उल्लेखनीय है कि ट्रम्प एक अक्टूबर को कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गये थे और इसके बाद उन्हें सैन्य अस्पताल में तीन रात एवं चार दिन के लिये भर्ती कराया गया था । इसके बाद उन्हें मजबूरन अपनी चुनावी रैलियों से विश्राम लेना पड़ा था । व्हाइट हाउस के चिकित्सकों ने अब उन्हें चुनावी रैली करने के लिये मंजूरी दे दी है ।

ट्रम्प ने कहा कि डेमोक्रेटों के शासन वाले राज्यों में लॉकडाउन के कारण व्यापक क्षति हुयी है,जहां उन्होंने लॉकडाउन लागू किया है और पूरी तहर सील कर दिया है ।

आने वाले दिनों में चुनावी अभियान को और तेज करने के संभावनाओं के बीच ट्रम्प ने अपने समर्थकों से कहा कि कोविड—19 से संक्रमित होने से, पहले की अपेक्षा वह अब तरो ताजा महसूस कर रहे हैं।

राष्ट्रपति ने अमेरिकी नागरिकों से आग्रह किया कि वह बाहर आयें और अपना काम करें ।

वहीं डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन ने कहा कि अमेरिका में दोनों बड़े राजनीतिक दलों (रिपब्लिकन पार्टी एवं डेमोक्रेटिक पार्टी) के बीच सहयोग की भावना फिर से पैदा किए जाने की आवश्यकता है।

बाइडेन ने ओहायो के सिनसिनाटी में चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि अमेरिका को ऐसे नेतृत्व की आवश्यकता है, जो तनाव कम कर सके और संवाद के माध्यम खोले।

पूर्व उपराष्ट्रपति ने सोमवार को कहा, ‘‘हमें इस देश में दोनों दलों के बीच सहयोग की भावना फिर से पैदा करने की आवश्यकता है।’’

इस बीच, लोकप्रिय रिपब्लिकन नेता निक्की हेली ने चीन पर ‘‘यथास्थिति’’ बनाए रखने और ईरान परमाणु समझौते में फिर से शामिल होने की इच्छा के लिए बाइडेन की आलोचना की।

उन्होंने वामपंथी एजेंडा आगे बढ़ाने के लिए उपराष्ट्रपति पद के लिए डेमोक्रेटिक उम्मीदवार एवं भारतीय-अमेरिकी नेता कमला हैरिस की भी निंदा की।

भारतीय-अमेरिकी हेली (48) इससे पहले तक हैरिस (55) की सार्वजनिक रूप से आलोचना करते से बचती रही हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हैरिस ने 2017 की कर कटौती को रद्द करने और अमेरिकी लोगों में निवेश करने का वादा किया। उन्होंने वाम की इस मूल विचारधारा को सामने ला दिया कि लोगों का धन उनके बजाए, सरकार बेहतर तरीके से खर्च कर सकती है।’’

हेली ने कहा, ‘‘बाइडेन चीन पर यथास्थिति का हिस्सा थे, जबकि ट्रम्प प्रशासन ने चीन के बारे में बहस ही मूल रूप से बदल दी। चीन के साम्यवादी खतरे को लेकर अमेरिका की आंखें खुल गई हैं और उसने चीन की जासूसी रोकने तथा तकनीक, विनिर्माण एवं रक्षा के क्षेत्र में चीन का सामना करने के लिए ठोस कदम उठाने शुरू कर दिए हैं।’’