एनआरपी को एनआरसी से जोड़ना चाहती है सरकार : कांग्रेस

नयी दिल्ली, 9 अक्टूबर (वार्ता) फ्रांस से मंगलवार को भारत को पहला राफेल लड़ाकू विमान मिल जाने के बावजूद कांग्रेस का कहना है कि इन विमानों की काबिलियत को लेकर किसी तरह का संदेह नहीं है लेकिन इससे जुड़े भ्रष्टाचार तथा अन्य सवालों का जवाब अब तक देश को नहीं मिल पाया है।

कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने बुधवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर की उस टिप्पणी का जवाब देते हुए यह बात कही जिसमें श्री जावड़ेकर ने राफेल मिलने पर फ्रांस में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के शस्त्र पूजा किए जाने को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खडगे ने ‘तमाशा’ बताया था।

राफेल पूजन कर राजनाथ ने परंपरा निभाई : जावड़ेकर

उन्होंन कहा कि कहा कि रक्षा मंत्री के ‘शस्त्र पूजा’ किए जाने की किसी ने निंदा नही की बल्कि श्री खड़गे की इस टिप्पणी के पीछे इशारा राफेल विमानों को भारत को सौंपने में विलम्ब होने, इनकी संख्या 136 से घटाकर 36 करने तथा इस सौदे में हुए भ्रष्टाचार से जुड़े सवालों से ध्यान हटाने के संबंध में था।

प्रवक्ता ने कहा कि राफेल जरूरी है और इसमें किसी तरह का संशय नहीं है और ना ही विमानों की गुणवत्ता तथा उनकी विशिष्टता को लेकर किसी तरह के सवाल खड़े किए जा रहे हैं बल्कि असली सवाल यह है कि इन विमानों की खरीद में विलम्ब के लिए जिम्मेदार कौन है। इस सौदे में भ्रष्टाचार और प्रकिया का उल्लंघन किसने किया। इन सब सवालों के जवाब अभी तक नहीं मिले हैं।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here