सेतिया कॉलोनी पुलिस चौकी बनी अवैध वसूली का अड्डा

– पार्षदों की अगुवाई में लोगों ने किया घेराव
श्रीगंगानगर। कोतवाली के अधीन सेतिया कॉलोनी पुलिस चौकी के स्टाफ के व्यवहार को लेकर जन आक्रोश फूट पड़ा। कांग्रेस के पार्षदों की अगुवाई में बड़ी संख्या में क्षेत्र के लोग पुलिस चौकी का घेराव करते हुए धरने पर बैठ गए। लगभग 5 घंटे चले धरने के दौरान पूर्व सभापति अजय चांडक ने पुलिस चौकी में आकर वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से बातचीत की। अजय चांडक ने धरना दे रहे लोगों को आश्वस्त किया कि दो दिन में पुलिस चौकी प्रभारी सब इंस्पेक्टर बलवंत सहित समूचे स्टाफ को तब्दील करवा दिया जाएगा।

महिला कांग्रेस की पूर्व जिलाध्यक्ष नमिता सेठी, नवनिर्वाचित कांग्रेस पार्षद ऋतु धवन और पार्षद पति पवन जोग आदि जनप्रतिनिधियों की अगुवाई में काफी संख्या में लोगों ने मंगलवार देर शाम अचानक सेतिया कॉलोनी पुलिस चौकी के सामने धरना लगा दिया। जनप्रतिनिधियों ने चौकी स्टाफ पर खुलेआम आरोप लगाए कि लोगों के साथ उनके द्वारा भेदभाव किया जाता है। पूर्व पार्षद नमिता सेठी ने आरोप लगाया कि यह पुलिस चौकी अवैध वसूली करने का अड्डा बन कर रह गई है। इस चौकी में पीडि़तों की कोई सुनवाई नहीं होती। उन्होंने बताया कि हाल ही पार्षद का चुनाव लडऩे वालेद्वएक शख्स की दुकान में चार पांच रोज पूर्व चोरी हो गई।

इसकी रिपोर्ट दिए जानेद्वपर भी चौकी प्रभारी ने कोई कार्रवाई नहीं की। दो दिन बाद दोबारा इसी दुकान में चोरी हो गई। कांग्रेस नेत्री के अनुसार चौकी प्रभारी सब इंस्पेक्टर बलवंत ने जब कोई कार्यवाही नहीं की तो उन्होंने कोतवाल हनुमान बिश्नोई को इस घटना से अवगत करवाया। कोतवाल ने जवाब दिया कि दुकान पर सीसी कैमरे लगवाओ फिर ही चोर पकड़ में आएंगे।इसी प्रकार एक व्यक्ति को कुछ लोग मारपीट कर घायल कर गए। यह पूरा घटनाक्रम किसी ने मोबाइल फोन से रिकॉर्ड कर लिया। वीडियो रिकॉर्डिंग दिए जाने के बावजूद मारपीट करने वालों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। उल्टा पीडि़त पक्ष से ही चौकी के स्टाफ ने रुपए झाड़ लिए। उन्होंने आरोप लगाया की इस चौकी में उसी का ही काम होता है जो इस में तैनात पुलिसकर्मियों भेंट पूजा करता है।

पिकअप और कैंपर की भिड़ंत में दो की मौत

पार्षद ऋतु धवन ने कहा कि पुलिस चौकी के स्टाफ से क्षेत्र क बहुत से लोग पीडि़त है। काफी समय से प्रभारी समेत सभी को बदलने की मांग की जा रही है। धरना देने वालों ने आरोप लगाया कि चौकी प्रभारी मोबाइल फोन अटेंड नहीं करते। उनका व्यक्तिगत और सीयूजी नंबर नो रिप्लाई ही रहता है। पार्षद पति पवन जोग ने आरोप लगाया कि बार-बार शिकायत करने पर भी पुलिस के उच्च अधिकारी चौकी प्रभारी पर कोई कार्रवाई नहीं कर रहे। रात करीब 9 बजे धरना स्थल पर पहुंचे पूर्व सभापति अजय चांडक ने धरना देने वालों से उच्च अधिकारियों को लिखित में शिकायत करवाई। उन्होंने पुलिस ऑफिसरों से बातचीत करने के बाद आश्वस्त किया 6 दिसंबर तक चौकी के समूचे स्टाफ को नहीं बदला तो वे खुद धरने पर बैठ जाएंगे। इसके बाद लोगों ने धरना समाप्त कर दिया।


LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here