श्रीगंगानगर के हिन्दी समाचार
बसंती चौक की तालाबंदी को 10 दिन हो गये।

श्रीगंगानगर। श्रींगानगर में कोरोना पॉजिटिव का मामला सामने आने के बाद बसंती चौक क्षेत्र में करफ्यू के कड़े प्रावधान लागू किये गये हैं। पॉजिटिव रोगी के घर को केन्द्र मानते हुए चारों दिशाओं में 300-300 मीटर की परिधि में करफ्यू लगाया गया है। पॉजिटिव के कॉन्टेक्ट में जो लोग आये थे, उसमें से 8 लोगों के सैम्पल लिये गये हैं। वहीं बुधवार और गुरुवार को दो दिनों के भीतर 157 लोगों की रैंडम सैम्पलिंग की गयी है। आरोग्य सेतु एप पर श्रीगंगानगर में कोरोना पॉजिटिव का मामला गुरुवार दोपहर तक अपडेट नहीं हुआ था। स्थानीय स्वास्थ्य अधिकारियों की इस लापरवाही पर सोशल मीडिया के माध्यम से जागरुक लोगों ने मीडिया को इस संबंध में जानकारी दी।

श्रीगंगानगर के हिन्दी समाचार
बसंती चौक के निकट पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी व्यवस्थाओं का निरीक्षण करते।

जिला अस्पताल के प्रमुख चिकित्सा अधिकारी डॉ. केएस कामरा ने बताया कि श्रीगंगानगर जिले में दो दिनों के भीतर 157 लोगों की रैंडम सैम्पलिंग की गयी है। गुरुवार को 127 सैम्पल लिये गये थे, वहीं शुक्रवार को 30 लोगों के कोरोना जांच के नमूने लेकर उनको बीकानेर भिजवाया गया है। उन्होंने बताया कि गुरुवार शाम तक कुल 1321 लोगों के सैम्पल लिये गये थे। इनमें 1222 लोगों की रिपोर्ट प्राप्त हुई है। एक कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। 1221 लोग निगेटिव रहे हैं। 99 लोगों की सैम्पल रिपोर्ट गुरुवार देर रात अथवा शुक्रवार सुबह मिलने की संभावना है।

श्री कामरा का कहना है कि आज जिला अस्पताल में 10 लोगों के सैम्पल लिये गये। इनमें 8 वे लोग शामिल हैं, जो कोरोना रोगी के कॉन्टेक्ट में आये थे। इनके सम्पर्क में जो आये थे, उनको क्वारेंटाइन किया गया है। वे स्वास्थ्य विभाग की नजर में है और अगले 14 दिनों तक उनके स्वास्थ्य की निगरानी रहेगी।

 

राजस्थान के समाचार
बसंती चौक के निकट पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी व्यवस्थाओं का निरीक्षण करते।

वहीं सुरेन्द्रा ग्रुप के एमडी गौरव गुप्ता ने एक प्रेस नोट जारी किया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि जिस बस पर रोगी ने दिल्ली से श्रीगंगानगर तक का सफर तय किया था, उसका सुरेन्द्रा डेंटल कॉलेज से कोई संबंध नहीं है।

बसंती चौक में करफ्यू लागू

बसंती चौक के पास करफ्यू लगा दिया गया है। सेतिया फार्म क्षेत्र में भी एक गली में आवागमन निषेध कर दिया गया है। करफ्यू के प्रावधानों को लागू करने के लिए पुलिस बल तैनात किया गया है। पुलिस के कर्मचारी तपती दोपहरी में भी टैंट की पारदर्शी सिलिंग के नीचे भीषण गर्मी में बैठकर लोगों को अपने घरों में रहने के लिए समझाइश करते हुए नजर आये। पुलिस कर्मचारियों ने आज धूप में भी कड़ी मेहनत की। सभी रास्तों को बेरिकेट्स लगाकर सील कर दिया गया है। पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों की अच्छी बात यह रही कि करफ्यू के प्रावधानों को 300 मीटर की परिधि तक सीमित रखा है। पहले इसको 1 किमी से भी ज्यादा क्षेत्र में लगाया जाता था।

एसडीएम, कलक्टर सहित अन्य पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने भी क्षेत्र का निरीक्षण किया और आवश्यक आदेश भी दिये। थानाधिकारी गजेन्द्रसिंह जोधा स्वयं भी गश्त करते हुए नजर आये।

बसंती चौक के निकट पुलिस व प्रशासनिक अधिकारी व्यवस्थाओं का निरीक्षण करते।

आरोग्य और जीवन के बीच सेतु बनाता है आरोग्य सेतु

बाजार में कम रही रौनक

बुधवार से ही श्रीगंगानगर में पूरे बाजार आरंभ हुए थे। उसी दिन शाम को कोरोना पॉजिटिव का मामला सामने आ गया। इस कारण गुरुवार को बाजार किस तरह से खुलेगा, इसको लेकर संशय की स्थिति थी। लेकिन बाजार को बंद करने के संबंध में कोई आदेश नहीं आया था। कुछ प्रतिष्ठान बंद रहे तो वह स्वयं ही लोगों ने एहतियातन बंद रखे। वहीं लोगों की भी बाजार में आवाजाही आज कम रही। ग्राहकी कम होने से दुकानदार भी निराश नजर आये।

रोडवेज की बसें बंद, 23 से चलेंगी

श्रीगंगानगर को तहसील मुख्यालयों को जोड़ने के लिए लगभग 15 बसों का संचालन किया जा रहा था। यह बसें गुरुवार को बंद कर दी गयीं। प्रशासन के आदेशों के उपरांत इन बसों का संचालन नहीं किया गया। वहीं देर शाम को रोडवेज मुख्यालय की ओर से आदेश जारी किया गया है। इसमें कम से कम 55 बसों को चलाने की अनुमति दी गयी है। रोडवेज मुख्यालय की ओर से जारी किये गये आदेशों में कहा गया है कि 23 मई से सीमित संख्या में बसों का संचालन राज्य के विभिन्न जिलों में किया जायेगा।

कोरोना वायरस : दिल्ली से श्रीगंगानगर आया युवक निकला कोरोना पॉजिटिव

यह भी स्पष्ट किया गया है कि राज्य सरकार के आदेशानुसार रोजाना परिवर्तनशील होगा। अर्थात इस आदेश को इस आशय से भी देखा जा सकता है कि अगर किसी मार्ग पर कोरोना पॉजिटिव अधिक पाये जाते हैं तो उस मार्ग पर सेवा को स्थगित भी किया जा सकता है। वहीं श्रीगंगानगर से हनुमानगढ़ तक रोजाना कम से कम चार चक्कर बस लगाया करेगी। वहीं श्रीगंगानगर से भादरा तक भी बस का संचालन होगा। वहीं हनुमानगढ़ से श्रीगंगानगर के अतिरिक्त घड़साना तक बस चलाने का निर्णय लिया गया है। श्रीगंगानगर से जयपुर के लिए बस प्रात: 7.30 बजे रवाना होगी। यह बस हनुमानगढ़, नोहर, चुरू, झुंझुनूं, सीकर होते हुए जयपुर पहुंचेगी और उसी समय (प्रात: 7.30 बजे) इसी रूट पर जयपुर से भी श्रीगंगानगर के लिए बस रवाना होगी। उल्लेखनीय है कि रेलवे भी 200 रेलगाड़ियों को चलाने का निर्णय ले चुका है हालांकि उसमें श्रीगंगानगर से रेल सेवा आरंभ नहीं हो पायेगी। इस बस के लिए यात्री को पूर्व में रिजर्वेशन करवाना अनिवार्य होगा। अगर किसी कारण से बस सेवा स्थगित की जाती है तो यात्री को राशि वापस कर दी जायेगी।

विवाह समारोह में 50 से अधिक नहीं होंगे मेहमान

जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट ने एक आदेश जारी कर श्रीगंगानगर में धारा 144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेशों को आगामी 31 मई तक लागू किया है। डीएम की ओर से जारी किये गये आदेशों में कहा गया है कि विवाह समारोह का आयोजन एसडीएम की अनुमति से किया जा सकेगा और इसमें अधिकतम 50 से अधिक मेहमान शामिल नहीं होंगे। वहीं शव यात्रा में 20 से अधिक लोगों के शामिल होने पर प्रतिबंध लगाया गया है।

सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि आज डीएम की ओर से जारी किये गये आदेशों में सार्वजनिक स्थानों पर 5 या 5 से अधिक व्यक्तियों के आवागमन, एकत्रित होने पर प्रतिबंध रहेगा। सायं 7 बजे से प्रातः 7 बजे तक सभी गैर आवश्यक गतिविधियों के लिए व्यक्तियों के आवागमन पर सख्त प्रतिबंध रहेगा। पुलिस, जिला प्रशासन, सरकारी अधिकारी जो फिल्ड में सक्रिय है, चिकित्सक, पैरामेडिकल स्टाफ, आपातकालीन ड्यूटी पर लागू नही होगा। रात्रि यात्रा पास जिला प्रशासन या पुलिस प्रशासन से लेना होगा। चिकित्सा, आपातकालीन स्थिति, दवा की दुकानों के मालिक और स्टाफ रात्रि यात्रा पास के साथ, ट्रक, मालवाहक वाहन, निर्माण सामग्री परिवहन कर रहे या खाली लौट रहे पर लागू नही होगा।

नगर परिषद के कर्मचारियों ने बसंती चौक के आसपास इलाके में सैनेटाइजर का छिड़काव जारी रखा।

सभी कार्यालय, दुकानें, कार्यालय, कारखाना आदि सायं 6 बजे या इससे पूर्व बंद कर दिए जाएंगे, ताकि इनका स्टाफ, अन्य व्यक्ति 7 बजे तक अपने घर पहुंच जाए। विशेष परिस्थिति में इस समय पश्चात खोलने हेतु जिला प्रशासन से विशिष्ट स्वीकृति प्राप्त करनी होगी।

यह समय सीमा निरन्तर उत्पादन के प्रकृति की फैक्ट्रिया, रात की पारी में काम करने वाली फैक्ट्रिया, निर्माण गतिविधियों पर लागू नही होगा। इनके द्वारा पारी का प्रबन्ध इस प्रकार किया जाए कि सायं 7 बजे से प्रातः 7 बजे तक की अवधि में कोई भी श्रमिक, स्टाफ सड़क पर नही आएगा।

सभी विद्यालय, महाविद्यालय, शैक्षणिक, प्रशैक्षणिक, कोचिंग संस्थान आदि बंद रहेंगे। ऑनलाईन अध्यापन तथा डिस्टेंस शिक्षा की छूट रहेगी। स्वास्थ्य, पुलिस, राजकीय कर्मचारियों, स्वास्थ्य कार्यकर्तओं, फंसे हुए व्यक्तियों सहित पर्यटकों के आवास के लिए तथा क्वारन्टीन सुविधा के लिए उपयोग में ली गई आतिथ्य सेवाओं को छोडकर अन्य सभी आतिथ्य सेवाएं प्रतिबंधित रहेगी।

सभी सिनेमा हॉल, मॉल, शॉपिंग मॉल, व्यायाम शालाएं, स्पोर्ट कम्पलैक्स, स्वीमिंग पूल, मंनोरंजन पार्क, थियेटर, बार, ऑडिटोरियम एवं एसम्बली हॉल और अन्य समान प्रकृति के स्थान बंद रहेंगे। सभी सामाजिक, राजनैतिक, खेल, मनोरंजन, अकादमी, सांस्कृतिक अन्य धार्मिक कार्यक्रम तथा अन्य समारोह के आयोजन पर प्रतिबंध रहेगा। सभी धार्मिक स्थल, पूजा स्थल जनता के लिए बंद रहेगे एवं सभी धार्मिक सम्मेलन पूर्णत: प्रतिबंधित रहेंगे। पान, गुटखा, तम्बाकू आदि के विक्रय पर प्रतिबंध रहेगा।