महिला को अश्लील फोन
श्रीगंगानगर जिले में महिला के साथ लूटपाट की कोशिश।

श्रीगंगानगर। राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में एक तहसील मुख्यालय पर तीन दिन में डकैती-लूट और चोरी की तीन वारदात होने के बाद भड़के जनाक्रोश के बाद थानाधिकारी को लम्बी छुट्‌टी पर भेज दिया गया। उनके स्थान पर एक पुलिस निरीक्षक को लगाया गया है।

श्रीबिजयनगर में शनिवार रात एक व्यापारी के घर पर सशस्त्र डकैत घुस गये थे और नकदी व जेवरात ले गये थे। इस घटना के बाद थानाधिकारी के खिलाफ लोगों ने प्रदर्शन किया। पुलिस ने इस घटना के बाद भी सबक नहीं लिया। रविवार रात को चोरी का असफल प्रयास के बाद सोमवार को अपराधी दिन-दिहाड़े एक व्यापारी के घर से नकदी और जेवरात चोरी कर ले गये। मामले की जानकारी एसपी को भी दी गयी।

मंगलवार को हालात उस समय खराब हो गये जब हरीपुरा रोड पर रेडीमेड वस्त्र व्यापारी के घर में सशस्त्र नकाबपोश घुस गये। उन्होंने घर पर मौजूद महिला, विनय की पत्नी रितू को बंधक बनाकर लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया। महिला ने शोर मचाया तो वहां भारी भीड़ एकत्र हो गये। लोग स्वयं ही नकाबपोश युवकों का पीछा करने लगे। रितू के बेहोश हो जाने पर उसको राजकीय चिकित्सालय भी ले जाया गया।

यह भी पढ़ें :

मामले की जानकारी मिलने पर थानाधिकारी फूलचंद शर्मा भी दल-बल के साथ मौके पर पहुंचे किंतु वहां आक्रोशित भीड़ से उनका सामना हुआ। लोगों के तेवरों को देखकर पुलिस को उल्टे पांव लौटना पड़ा।

पुलिस पर विश्वास समाप्त होता देखकर उच्चाधिकारियों की नींद टूटी। थानाधिकारी फूलचंद शर्मा को तुरंत प्रभाव से छुट्‌टी पर भेज दिया गया। उनके स्थान पर पुलिस निरीक्षक रणजीतसिंह को थानाधिकारी का कार्यभार दिया गया है।

पुलिस अधिकारियों ने दावा किया है कि डकैती की वारदात का पर्दाफाश करने के लिए सीओ रायसिंहनगर के नेतृत्व में एसएचओ राजियासर, एसएचओ मुकलावा, एसएचओ पदमपुर और एसएचओ समेजा कोठी की एक टीम का गठन किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here