श्रीगंगानगर की नई धानमंडी
श्रीगंगानगर की नई धानमंडी में जिंस की खरीद का दृश्य। i फाइल चित्र

श्रीगंगानगर। राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले को एक बार फिर से अच्छी खबर मिली है। 12 रोगियों की रिपोर्ट आज बीकानेर से प्राप्त हुई। यह सभी रिपोर्ट निगेटिव है। अब तक 324 लोगों की रिपोर्ट प्राप्त हो चुकी है और एक भी रोगी पॉजिटिव नहीं पाया गया है। आज 7 लोगों के सैम्पल लिये गये हैं। इसकी रिपोर्ट का इंतजार है। वहीं अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में 36 रोगी भर्ती हैं और सभी की हालत सामान्य है।

श्रीगंगानगर की नई धानमंडी में गेहूं खरीद के दौरान आज व्यवधान पैदा हो गया। व्यवधान के कारण खरीद भी प्रभावित हुई। वहीं प्रशासन ने गेहूं, चना और जौ की लिफ्टिंग नहीं होने के कारण 30 अप्रेल को गेहूं खरीद स्थगित करने के आदेश दिये किंतु व्यापारियों के साथ इस मुद्दे पर चर्चा हुई। कच्चा आढ़तिया संघ के पूर्व अध्यक्ष हनुमान गोयल ने बताया कि गेहूं खरीद के दौरान बोरियों की सिलाई का कार्य उस तेजी के साथ नहीं हो पा रहा है। इस बार कोरोनों के कारण प्रशिक्षित एवं अनुभवी मजदूरों का भी अभाव है। व्यापारियों के बीच 2 लाख बारदाना वितरित किया जा चुका है जबकि अभी तक मंडी में मात्र 65 हजार क्विंटल गेहूं की फसल आयी है। इसमें भी पांच हजार क्विंटल व्यापारियों ने अपने स्तर पर खरीद ली है। इस कारण बारदाना की कमी नहीं है।

श्रीगंगानगर की नई धानमंडी में गेहूं का उठाव नहीं हो पाने के कारण अब 1 मई को राजकीय अवकाश रखा जायेगा। व्यापारियों और खरीद एजेंसियों के बीच आज वार्ता हुई। इस वार्ता में तय किया गया कि 1 मई को मजदूर दिवस के कारण मंडी में गेहूं की खरीद नहीं होगी और उस दिन मंडी प्रांगण में एफसीआई की खरीद किये गये गेहूं का उठाव किया जायेगा। मजदूर दिवस से पहले 30 अप्रेल को छुट्‌टी रखने की भी चर्चा हुई थी। इसके बाद 1 मई को ही गेहूं की खरीद न कर उठाव का कार्य करवाया जायेगा।

हनुमानगढ़ जिले में एक व्यक्ति ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। तलवाड़ा थाना पुलिस ने बताया कि रणवीर पुत्र सुलतानाराम निवासी मेहरवाला ने अपने घर के बाहर एक पेड़ पर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। वह मानसिक रूप् से परेशान रहता था। पुलिस ने बताया कि मृतक के पुत्र की रिपोर्ट के आधार पर 174 सीआरपीसी में मर्ग एफआईआर दर्ज की गयी है।

श्रीगंगानगर में 312 कोरोना सैम्पल की रिपोर्ट निगेटिव, चूनावढ़ का मामला भी शामिल

श्रीगंगानगर में आगामी 2 मई से सरसों और चना फसल की सरकारी खरीद भी आरंभ हो सकती है। अभी तक गेहूं फसल की खरीद सरकारी स्तर पर की जा रही है। सरकार ने गेहूं का समर्थन मूल्य 1925 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया है। चने और सरसों की खरीद के लिए सरकार ने आवश्यक आदेश जारी किये हैं और पूरे राज्य के साथ श्रीगंगानगर जिले में भी खरीद के लिए तैयारियां शुरू कर दी गयी है। सहकारिता विभाग के प्रमुख शासन सचिव नरेश पाल गंगवार ने भी इस संबंध में आदेश जारी किये और कहा कहा कि राज्य में 1 मई से 782 खरीद केन्द्रों पर सरसों एवं चने की समर्थन मूल्य पर खरीद शुरू की जाएगी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने श्रीगंगानगर की जनता से कहा, सावधानी हटी-दुर्घटना घटी

श्रीगंगानगर जिले के जो लोग अन्य प्रदेशों में फंसे हुए हैं अथवा अन्य प्रदेशों के मजदूर, छात्र श्रीगंगानगर में हैं, उनके लिए राहत की भरी खबर है। यह सभी लोग अब अपनों के बीच पहुंच पायेंगे। सरकार के आदेशों के उपरांत प्रशासन भी सक्रिय हुआ है। प्रशासन ने कहा है कि लोगों को पंजीयन की ऑनलाइन सुविधा दी जा रही है। जिला कलक्टर शिवप्रसाद नकाते ने कहा कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार कोविड-19 के दौरान ई-मित्र पोर्टल पर प्रवासी पंजीकरण की सुविधा उपलब्ध है। प्रवासी नागरिक को पोर्टल पर सर्वप्रथम पंजीकरण करवाना होगा। राज्य से बाहर के नागरिक, अन्य जिलों के नगारिक, मजदूर व छात्र माईग्रेट रजिस्ट्रेशन ई-मित्र पोर्टल पर घर बैठे पंजीयन कर सकते है।