चीन पर तथ्य छुपा रही है सरकार: कांग्रेस

-पुलिस की तैनातगी में हुए चुनाव, दुकानें करवाई बंद
बठिंडा (पपिन्दर सिंहमार)। ऑल इंडिया कांग्रेस कमेटी के पूर्व प्रधान राहुल गांधी द्वारा यूथ कांग्रेस की प्रधानगी के लिए शुरू किए गए लोकतांत्रिक चुनाव सिस्टम के तहत आज जिला बठिंडा शहरी व देहाती के यूथ कांग्रेस प्रधानगी के चुनाव संपन्न करवाए गए। कहने को तो यह चुनाव लोकतांत्रिक तरीके से करवाए गए हैं परंतु इसके पीछे की कहानी किसी से छिपी नहीं है। बठिंडा अर्बन की प्रधानगी के लिए दो कैंडीडेट बलजीत सिंह व खुशविंदर सिंह खुशी तथा बठिंडा देहाती की प्रधानगी के लिए नवदीप सिंह गोल्डी व लखविंदर सिंह लकी चुनाव मैदान में थे, जिनका नसीब मतपेटियों में बंद हो गया। यूथ कांग्रेस की प्रधानगी के लिए मच्छी मार्केट में कांग्रेस कार्यालय में पोलिंग स्टेशन बनाए गए थे।

सेतिया कॉलोनी पुलिस चौकी बनी अवैध वसूली का अड्डा

-दिनभर दुकानदारों को दुकानों में नहीं होने दिया दाखिल
बुधवार की सुबह करीब ८ बजे शुरू हुआ मतदान शाम ३ बजे संपन्न हुआ। इस दौरान पुलिस फोर्स की तैनातगी की गई थी व कांग्रेस कार्यालय जाने वाले रास्ते को पुलिस द्वारा बैरीकेट लगाकर दोनों तरफ से बंद किया गया था। यहां तक कि मच्छी मार्केट में स्थित कांग्रेस कार्यालय को आने वाली मेन रेलवे रोड को भी अंडरब्रिज के पास से बैरीकेट लगाकर बंद किया गया था। इस दौरान भारी चैकिंग के बाद ही वाहनों को स्टेशन की तरफ आने दिया जा रहा था। मच्छी मार्केट में स्थित समस्त दुकानों को पुलिस द्वारा बंद करवाया गया था। जिस कारण यूथ कांग्रेस के हुए यह चुनाव दुकानदारों के लिए परेशानियां खड़े करने वाले ही थे।

-७ दिसंबर को होगी मतगणना, किसका चमकेगा नसीब, ७ भी है करीब
यूथ कांग्रेस की प्रधानगी के हुए चुनावों में बठिंडा अर्बन की प्रधानगी के लिए बलजीत सिंह व खुशविंदर सिंह खुशी मैदान में हैं। अर्बन में कुल 2८५६ यूथ कांग्रेस के वोटर हैं व सिर्फ ६९३ वोटरों ने ही मतदान किया। जबकि बठिंडा देहाती की प्रधानगी को लेकर नवदीप सिंह गोल्डी व लखविंदर सिंह लकी मैदान में हैं। यहां बताना जरूरी है कि नवदीप सिंह गोल्डी हलका तलवंडी साबो से पहले भी भारी बहुमत से यूथ कांग्रेस की कमान संभाल चुके हैं। जिनको तजुर्बा भी राहुल टीम का पूरा है। देहाती में यूथ कांग्रेस के करीब ४१०० वोटरों में से महज ११७६ मतदाताओं ने अपने मतों का प्रयोग किया है। चारों कैंडीडेट्स की किस्मत मतपेटियों में बंद हो गई व ७ दिसंबर को चुनावों की मतगणना होगी। समस्त कैडीडेट्स व उनके समर्थकों ने अपनी अपनी जीत के दावे भरे हैं।