‘एक देश एक संविधान’ के बाद अब ‘एक देश एक चुनाव’ का लक्ष्य : मोदी

 नयी दिल्ली, 15 अगस्त (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राजनीति से ऊपर उठकर देशहित में काम करने, आतंकवाद से लड़ने और जनसंख्या विस्फोट को रोकने के लिए ‘छोटा परिवार’ के जरिये देश सेवा करने का लोगों से आह्वान करते हुए गुरुवार को कहा कि जम्मू कश्मीर से संबंधित अनुच्छेद 370 को हटाकर ‘एक देश एक संविधान’ का सिद्धांत लागू हो गया है और अब अगला लक्ष्य ‘एक देश एक चुनाव’ है।

उन्होंने बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 100 लाख करोड़ रुपये के निवेश और सैन्य शक्ति को मजबूत बनाने के लिए तीनों सेना के वास्ते सेनापति का नया पद सृजित करने की घोषणा भी की तथा जल संरक्षण के लिए साढे तीन लाख करोड़ रुपये की लागत से जल जीवन मिशन को पूरा करने का संकल्प व्यक्त किया।


स्वतंत्रता दिवस पर कल्याण सिंह ने किया झण्डारोहण

श्री मोदी ने 73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ऐतिहासिक लाल किले के प्राचीर से जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटाकर सरदार पटेल के सपने को पूरा करने तथा ‘एक देश, एक संविधान’ लागू करने का उल्लेख करते हुए कहा कि सत्तर साल में जो नहीं हुआ वह सत्तर दिनों में किया गया है और तीन तलाक जैसी प्रथा को भी दूर किया गया तथा गरीबी दूर करने के लिए जरूरी कदम उठाये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जनता के सपने को पूरा करने तथा 21 वीं सदी के भारत के बारे में विचार करने का समय आ गया है। पांच साल पहले लोग सोचते थे क्या देश बदल सकता है, लेकिन अब लोग कह रहे हैं देश बदल रहा है।

प्रधानमंत्री के रूप में छठी बार लाल किले से तिरंगा फहराने वाले श्री मोदी ने कहा कि दुनिया में कही भी आतंकवाद मानवता के खिलाफ एक युद्ध है, इसलिए विश्व की सभी मानवीय शक्तियों को एकजुट होने की जरूरत है और आतंकवाद को प्रायोजित करने वाले और उसे फैलाने वालों को सबके सामने उजागर किया जाना जरूरी है तथा इस काम में भारत को सक्रिय भूमिका निभानी है। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों ने भारत को ही नहीं बल्कि पड़ोसी देशों को भी आतंकवाद को तबाह करके रखा है। बंगलादेश, अफगानिस्तान भी आतंकवाद से जूझ रहा है श्रीलंका के चर्च में भी निर्दोष लोगों की हत्या की गयी।


 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here