जम्मू-कश्मीर मुद्दे पर हिमाचल में अलर्ट, बढ़ी चैकसी

शिमला, 05 अगस्त (वार्ता) जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 और 35ए के हटाये जाने के फैसले के बाद हिमाचल प्रदेश के सीमावर्ती क्षेत्रों में भी अलर्ट कर दी गई है।

जम्मू-कश्मीर में केंद्र सरकार ने अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात कर दिया है। किसी भी तरह की घुसपैठ की आशंका को लेकर पुलिस अलर्ट है। हिमाचल प्रदेश के पुलिस महानिदेशक एस.आर. मरड़ी ने सुरक्षा दृष्टि को लेकर सभी जिलों के पुलिस अधीक्षक को निर्देश जारी किए हैं। साथ ही प्रदेश में कश्मीरियों के जानमाल की सुरक्षा व इनके हितों का नुकसान न हो, इस बारे में एहतियात बरतने की सलाह दी है। मंदिरों, अहम प्रतिष्ठानों और भीड़भाड़ वाले इलाकों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

कल्याणकारी योजनाओं को उत्साहपूर्वक लागू किया जाए-सूद

बीते दिनों गृह विभाग की आतंकी हमलों की आशंका को लेकर एडवाइजरी जारी की थी, इसके बाद से कांगड़ा और चंबा में भी पुलिस प्रशासन चैकस हो गया था। दोनों ही जिलों की सीमाओं पर सुरक्षा-व्यवस्था को और सुदृढ़ कर दिया गया है। पुलिस जवानों सहित अन्य सुरक्षा एजेंसियों को भी अलर्ट रहने को कहा गया है।

इससे पहले जम्मू-कश्मीर में अमरनाथ धाम के लिए जाने वाले ट्रैक पर शुक्रवार को आईईडी, एंटी पर्सनल माइन और स्नाइपर गन मिलने के बाद जम्मू-कश्मीर में जारी एडवाइजरी जारी की गई थी, इसके बाद कांगड़ा-चंबा पुलिस भी अलर्ट हो गई थी।

नए संस्कृत महाविद्यालय खोलने में नियमों में बदलाव विचाराधीन नहीं-गर्ग

जम्मू कश्मीर से लगी राज्य की सीमाओं पर सुरक्षा-व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम हैं, लेकिन फिर भी ऐहतियाती तौर पर सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी की गई है। इस विषय को लेकर एस.आर. मरडी ने सोमवार को यहां राजभवन में राज्यपाल कलराज मिश्र से भेंट की। हालांकि इस बैठक को शिष्टाचार बताया गया है, लेकिन पुलिस महानिदेशक ने उन्हें राज्य में कानून व्यवस्था की जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग राज्य में समाज के विभिन्न वर्गों के लिए कई जागरूकता अभियान कार्यान्वित कर रहा है, जिनमें नशे के विरूद्ध अभियान को विशेष प्राथमिकता दी जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here