एप्पल कंपनी के सीईओ टीम कुक। फाइल फोटो
एप्पल के मोबाइल अगले माह बाजार में उपलब्ध होने की संभावना
भारत में ही निर्मित किये जा रहे हैं मोबाइल
चीन की जगह भारत को बना सकता है एक्सपोर्ट हब
एप्पल कंपनी ने अभी आधिकारिक जानकारी देने से मीडिया को किया इनकार

 

नई दिल्ली। विश्व में सर्वाधिक बिकने वाला एप्पल मोबाइल अब हर भारतीय की पहुंच में हो सकता है। कंपनी ने भारत में अपनी विर्निर्माण कंपनी भारत में लगा ली है और संभवत: “मेक इन इंडिया” एप्पल का पहला मोबाइल अगले महीने भारत के बाजार में उपलब्ध हो जायेगा।

भारत के बाजार में बिकने वाला एप्पल हाल-फिलहाल तक ताइवान अथवा चीन से ही आयात किया जाता था। इस पर कस्टम ड्यूटी भी लगती थी। इस कारण यह मीडिल क्लास की पहुंच से दूर था।

रोंहिग्या समुदाय के लिए भारत ने 250 मकान बनाकर सौंपे

मोदी सरकार के निमंत्रण पर कंपनी के टीम कुक ने भारत की यात्रा की थी। इस यात्रा के उपरांत उन्होंने भारत में अपनी मोबाइल कंपनी स्थापित करने की सहमति जतायी थी।

टीम कुक से पहले कंपनी के संस्थापक स्टीव जॉब्स भी भारत की यात्रा कर चुके थे। उन्होंने कंपनी की स्थापना से पहले 1974 में भारत की आध्यात्मिक यात्रा की थी। उन्होंने नैनीताल में बाबा नीम करौली आश्रम में भी कई दिन बिताये थे। वे उत्तराखण्ड के कई हिस्सों में रहकर सच्चे गुरु की तलाश कर रहे थे। अमेरिका जाने से पहले स्टीव जॉब्स ने सिर का मुंडन करवाते हुए बुद्ध को अपना लिया था। दावा किया जाता है कि अपनी अध्यात्मिक यात्रा के दौरान सेब खाकर ही अपनी यात्रा पूर्ण की थी इस कारण कंपनी का नाम भी एप्पल ही रखा गया।

पाकिस्तान के साथ आतंकवाद पर भी बातचीत करेगा अमेरिका

फिलहाल इतिहास से बाहर आकर देखते हैं तो यह पता चलता है कि विर्निर्माण इकाई ने भारत में अपना पहला मोबाइल उतारने की तैयारी कर ली है। तमिलनाडू में स्थापित इकाई ने कई मॉडल के मोबाइल बनाये हैं और अगले माह यह स्टोर्स पर उपलब्ध होंगे। कंपनी अपने स्टोर्स खोलने की भी तैयारी कर चुकी है।

मीडिया रिपोर्टस में यह भी दावा किया जा रहा है कि अमेरिका-चीन के बीच चल रहे ट्रेड वॉर के बाद एप्पल भारत को अपनी निर्यात इकाई का हब बनाने की तैयारी में है और यूरोप तक वह एप्पल को मेक इन इंडिया के माध्यम से ही पहुंचाना चाहती है।

राजस्थान के बजट से जनता की आशाएं क्या पूरी हो पाईं?

यह भी माना जा रहा है कि सीमा शुल्क नहीं होने के कारण पहले के मुकाबले एप्पल काफी कम कीमत पर भारतीय बाजार में उपलब्ध होंगे।