चीन वैश्विक शक्ति संतुलन को बदलना चाहता है : एस्पर

वॉशिंगटन 17 जुलाई, अमेरिका के रक्षा मंत्री पद के लिए नामित मार्क एस्पर का कहना है कि चीन वैश्विक शक्ति संतुलन को बदलना चाहता है और अमेरिका के सतर्क ना रहने पर एक रणनीतिक प्रतियोगी के रूप में यह उसके विरूद्ध हो सकता है। एस्पर ने कहा कि चीन के पास अकूत आर्थिक क्षमता है और वह उसका इस्तेमाल प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से क्षेत्र में दूसरों को प्रभावित करने के लिए कर रहा है।

सीमा पर शांति के लिए समझौतों का सम्मान कर रहे हैं भारत और चीन : राजनाथ

एस्पर ने सीनेट सशस्त्र सेवा समिति के समक्ष अपने नामांकन की पुष्टि की सुनवाई के दौरान कहा कि चीन वैश्विक शक्ति संतुलन को बदलना चाहता है। वह संस्थानों से लेकर डॉलर तक सब कुछ बदलना चाहता है और इसके लिए वह कुछ भी करने को तैयार है। उन्होंने कहा कि सबसे बड़ी चिंता यह है कि चीन ऐसा करने के लिए अपनी अर्थव्यवस्था का इस्तेमाल कर सकता है और उन छोटे देशों का फायदा उठा सकता है, जिन्हें इसकी जरूरत है। एस्पर ने कहा, ‘‘ वे उन्हें इस तरह से कर्ज में डाल रहे हैं कि वे रणनीतिक बंदरगाहों, महत्वपूर्ण खनिजों और संसाधनों पर कब्जा करने में सक्षम हो जाएं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ यह बस समय की बात है कि वह अमेरिका की बराबरी कर ले और संभवत: उससे आगे भी निकल जाए।’’ एस्पर ने आशंका जताई कि चीन उसके संभावित साझेदार छीन सकता है। उन्होंने कहा कि यह एक बड़ी चुनौती है, जो मुझे लगता है कि हमें चीन से मिल रही है, बल्कि ऐसा खतरा हमें रूस से भी नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here