captain virat kohli

मैनचेस्टर 10 जुलाई, आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 के सेमीफाइनल में भारत को न्यू जीलैंड के हाथों हार का सामना करना पड़ा। मैच के बाद कोहली ने बताया आखिर क्यों महेंद्र सिंह धोनी को न्यू जीलैंड के खिलाफ मुकाबले में सातवें नंबर पर बल्लेबाजी करने के लिए भेजा गया।

  

कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, ‘कुछ शुरुआती मैचों के बाद धोनी को लोअर ऑर्डर में खेलने की जिम्मेदारी दी गई थी। तो उन्हें सातवें नंबर पर भेजना गेम प्लान का हिस्सा था।’ कोहली ने कहा कि धोनी आज जडेजा के साथ अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे। कोहली ने कहा, ‘टीम में एक अच्छा संतुलन होना चाहिए, अगर एक छोर पर बल्लेबाज स्ट्राइक कर रहा है, ऐसे में दूसरे को सहायक की भूमिका निभानी पड़ती है।
कोहली से जब धोनी के भविष्य के बारे में पूछा गया तो कप्तान ने कहा, ‘उन्होंने इस बारे में मुझे कुछ नहीं बताया।’ कोहली बुधवार को मैनचेस्टर में न्यू जीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल में 18 रनों की हार के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह बात कही। धोनी ने 50 रनों की पारी खेली लेकिन वह पारी के 49वें ओवर में मार्टिन गप्टिल के सीधे थ्रो पर रन आउट हो गए। धोनी के आउट होते ही भारत की मैच में जीत की उम्मीदें समाप्त हो गईं।

नई प्रौद्योगिकी अपनाने से बढ़ेंगी रेलगाड़ियों में रोजाना 4 लाख आरक्षित सीटें

धोनी से पहले उनके जोड़ीदार ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा ने इस मैच में 77 रनों की शानदार पारी खेली और एक विकेट भी लिया। हालांकि उनकी पारी भी भारतीय टीम को जीत नहीं दिला पाई। जडेजा और धोनी जब क्रीज पर साथ आए तो भारत का स्कोर 6 विकेट पर 92 रन था और इन दोनों ने सातवें विकेट के लिए 116 रन जोड़े और भारत को मुश्किल हालात से बाहर निकालने की पुरजोर कोशिश की।
इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में जडेजा के खेल पर भी कोहली से सवाल पूछा गया। विराट ने कहा, ‘पिछले हफ्ते से जो कुछ हुआ है उसके बाद मुझे नहीं लगता कि जडेजा को कुछ कहने की जरूरत है। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनके नाम तीन तिहरे शतक हैं। उनके पास काफी प्रतिभा है। मेरी नजर में यह उनकी सर्वश्रेष्ठ पारी थी। वह काफी अच्छा खेल रहे थे। जब वह बल्लेबाजी कर रहे थे तो मुझे लगा था कि हम मैच जीत सकते हैं। मैं उनके लिए काफी खुश हूं।’