मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को बुखार

जयपुर, 11 जुलाई, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि किसानों का ऋण माफ करने के साथ ही उन्हें नया कर्ज स्वीकृत करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। सरकार इस वर्ष करीब 16 हजार करोड़ रुपए के फसली ऋण वितरित करेगी। इसके अलावा खरीफ और रबी में खाद-बीज में कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। गहलोत ने यहां सहकारी क्षेत्र में आनलाइन फसली ऋण वितरण व सहकारी एटीएम के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए यह जानकारी दी। उन्होंने कहा कि सरकार का पूरा प्रयास रहेगा कि किसानों को किसी तरह की तकलीफ नहीं हो।

कार ने सड़क किनारे योग कर रहे लोगों को कुचला, छह की मौत, कार जब्त

उन्होंने कहा कि हमारे पिछले कार्यकाल में हमने पहली बार किसानों को बिना ब्याज फसली ऋण देने की शुरूआत की थी। अब हमने ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित की है जिसमें ऋण वितरण और कर्ज माफी में किसी तरह की गड़बड़ी नहीं हो और पूरी पारदर्शिता के साथ किसानों को इसका लाभ मिले। मुख्यमंत्री ने कहा कि आवारा पशुओं से किसानों को हो रही परेशानी को दूर करने के लिए सरकार ने बजट में हर पंचायत समिति में नन्दीशाला खोलने की घोषणा की है। हमने ‘इज आफ डूइंग फार्मिंग’ के लिए एक हजार करोड़ रुपए के कृषक कल्याण कोष का गठन भी किया है। इसके अलावा 1 लाख मैट्रिक टन डीएपी एवं 2 लाख मैट्रिक टन यूरिया के अग्रिम भण्डारण का प्रावधान भी किया गया है।

ऑस्ट्रेलिया वर्ल्ड कप से बाहर, न्यू जीलैंड और इंग्लैंड के बीच फाइनल में भिड़ंत

उन्होंने प्रदेश में सहकारी क्षेत्र में आनलाइन ऋण वितरण की शुरूआत को एक ऐतिहासिक कदम बताते हुए कहा कि इससे ऋण वितरण की प्रक्रिया आसान हो जाएगी और इसमें पारदर्शिता भी आएगी। अब किसान एटीएम या पोस मशीन के माध्यम से ऋण राशि की निकासी भी कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि हमारी नीतियां,सिद्वांत, कार्यक्रम छत्तीसी कौम के लिये है। किसान, दलित, पिछड़ा और युवा छात्र सबको साथ लेने के लिये है। सर्वधर्म संभाव को साथ लेकर चलने वाले हम लोग है। सहकारिता राज्यमंत्री टीकाराम जूली ने एटीएम कार्ड धारक किसानों को साइबर क्राइम के माध्यम से होने वाली धोखाधड़ी से सावधान रहने की सलाह दी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सहकारिता एटीएम मोबाईल वैन का शुभारम्भ करने के बाद उसे हरी झंडी़ दिखाकर रवाना किया। उन्होंने एग्री स्टार्टअप से जुड़े पांच युवाओं से भी चर्चा की।