indian team captain : virat kohli

मैनचेस्टर 10 जुलाई, आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 में भारतीय टीम का सफर सेमीफाइनल में समाप्त हो गया है। भारतीय टीम को बुधवार को न्यू जीलैंड के हाथों 18 रनों से हार का सामना करना पड़ा। मैच के बाद टीम के कप्तान विराट कोहली अपने गेंदबाजों की खुलकर तारीफ की। वहीं बल्लेबाजी के शुरुआती 45 मिनट को हार के लिए जिम्मेदार बताया। कोहली ने कहा, ‘हमारे गेंदबाजों ने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया। हमने पहले हाफ में अपने लक्ष्य को हासिल किया।’ विराट ने कहा कि दूसरी पारी के शुरुआती 45 मिनट के खराब खेल ने हमें वर्ल्ड कप से बाहर कर दिया।

नई प्रौद्योगिकी अपनाने से बढ़ेंगी रेलगाड़ियों में रोजाना 4 लाख आरक्षित सीटें
मैच प्रजेंटेशन के दौरान कोहली ने कहा, ‘हमें लगता है कि हमने न्यू जीलैंड को कम स्कोर पर रोक दिया। हम मानते थे कि इस लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है लेकिन न्यू जीलैंड ने शानदार गेंदबाजी की।’ कोहली ने कीवी टीम के गेंदबाजों की तारीफ करते हुए कहा, ‘कीवी टीम ने गेंदबाजों शानदार खेल दिखाया और उसी से सारा अंतर पड़ा। न्यू जीलैंड के गेंदबाजों ने भारतीय टॉप ऑर्डर को काफी परेशान किया।’ विराट ने माना की टॉप ऑर्डर के फेल होने के चलते यह मैच गंवा दिया। उन्होंने कहा, ‘पूरे टर्नमेंट में हमने शानदार खेल खेला। लेकिन इस मैच में 40-45 मिनट के खराब खेल ने हमें वर्ल्ड कप से बाहर कर दिया।’

भारतीय टीम ने 92 रनों पर 6 विकेट खो दिए थे। इसके बाद रविंद्र जडेजा और महेंद्र सिंह धोनी ने 116 रनों की साझेदारी की। कोहली ने जडेजा की तारीफ करते हुए कहा कि जडेजा को कुछ ही मैच खेलने का मौका मिला और उसमें उन्होंने शानदार खेल दिखाया। पूर्व कप्तान धोनी ने भी 50 रनों की पारी खेली लेकिन वह 49वें ओवर में रन आउट हो गए। कोहली ने कहा कि धोनी ने भी अच्छी पारी खेली लेकिन वह जरा से अंतर से रन आउट हो गए वर्ना मैच किसी का भी हो सकता था।

राहुल गांधी पर सुब्रमण्यन स्वामी के कोकीन बयान के खिलाफ राजस्थान में दर्ज हुईं 39 एफआईआर

कोहली ने कहा कि इस पूरे टूर्नमेंट में हमने जिस तरह का खेल दिखाया वह काबिले तारीफ है। लेकिन इस मैच में न्यू जीलैंड ने अच्छा खेल दिखाया और हम पर दबाव बनाए रखा। कोहली ने कहा कि इस मैच में हमारा शॉट सिलेक्शन बेहतर हो सकता था। उन्होंने कहा, ‘नॉकआउट में मैच किसी का भी हो सकता था। न्यू जीलैंड ने आज बेहतर खेल दिखाया और वह डिजर्व करते थे।’