वित्त मंत्रालय विदेशों से जारी किए जाने वाले सरकारी बॉन्ड पर करे अध्ययन: पीएमओ

नई दिल्ली 25 जुलाई, कई विशेषज्ञों द्वारा चिंता जताए जाने को देखते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने वित्त मंत्रालय से कहा है कि वह विदेशों में जारी किए जाने वाले सरकारी बॉन्ड पर एक विस्तृत अध्ययन करे। सूत्रों ने जानकारी दी कि प्रधानमंत्री कार्यालय ने वित्त मंत्रालय से इसे लेकर भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नरों और डिप्टी गवर्नरों द्वारा जतायी गई चिंता का विश्लेषण करने के लिए कहा है।

अदालत ने दिल्ली पुलिस से पूछा: अब तक कितने अवैध मसाज पार्लर बंद किये हैं?

सूत्रों ने बताया कि विस्तृत अध्ययन के बाद ही इस विषय पर कोई फैसला किया जाएगा। उल्लेखनीय है कि वित्त वर्ष 2019-20 के बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा की थी कि सरकार अपने कर्ज का एक हिस्सा विदेशी मुद्रा में सरकारी बॉन्ड विदेशी बाजारों में जारी कर जुटाएगी। इसका कई अर्थशास्त्रियों, विशेषज्ञों और यहां तक कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की आर्थिक शाखा स्वदेशी जागरण मंच ने भी विरोध किया है।

पाकिस्तानी मीडिया ने इमरान के अमेरिका दौरे को “कूटनीतिक तख्तापलट” करार दिया
अर्थशास्त्री और योजना आयोग के उपाध्यक्ष रहे मोंटेक सिंह अहलूवालिया ने मोदी सरकार को विदेशी बॉन्ड बाजार का उपयोग करते हुए धन जुटाने की योजना टालने का सुझाव दिया है। उनका कहना है कि पूर्व में भी सरकारी बॉन्ड को विदेशी बाजारों में बेचने पर विचार किया गया था, लेकिन बाद में इसे छोड़ दिया गया, क्योंकि इसमें नुकसान ज्यादा और फायदा कम दिखाई दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here