राष्ट्रीय जांच एजेंसी

नई दिल्ली 14 जुलाई, राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने बड़ी कामयाबी हासिल करते हुए तमिलनाडु में एक ऐसे संगठन का पर्दाफाश किया है, जो देश में आतंकी हमलों की साजिश रच रहा था। एनआईए के मुताबिक यह संगठन देश में इस्लामिक राज्य की स्थापना के मंसूबे रखता है। एनआईए ने चेन्नै और नागपट्टिनम जिले में स्थित तीन संदिग्झों के ठिकानों पर शनिवार को छापेमारी की, जिसमें यह खुलासा हुआ।

चीनी प्रतिबंधों की चेतावनी के बाद ताइवान ने अमेरिकी हथियार समझौते का बचाव किया
एनआईए की ओर से 9 जुलाई को रजिस्टर्ड किए गए केस के मुताबिक संदिग्ध आतंकी चेन्नै और नागपट्टिनम जिले के रहने वाले हैं। इसके अलावा पूरे देश और उससे बाहर भी कई लोग इससे जुड़े हैं जो भारत सरकार के खिलाफ जंग छेड़ने की साजिश रच रहे थे। इन दहशतगर्दों ने अंसारुल्ला नाम का आतंकी संगठन बना रखा है।

एनआईए का कहना है कि आरोपी सैयद मोहम्मद बुखारी, हसन अली और मोहम्मद युसुफुद्दीन और उसके सहयोगियों ने बड़े पैमाने पर फंड जुटाया है। ये लोग भारत में आतंकी हमलों को अंजाम देने की तैयारी कर रहे थे। इन आतंकियों का मंसूबा भारत में इस्लामिक राज्य की स्थापना करना है। गैर कानूनी गतिविधियां रोकथाम अधिनियम के तहत इन संदिग्धों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। एनआईए ने चेन्नै स्थित सैयद बुखारी के घर और ऑफिस में छापेमारी की। इसके अलावा नागपट्टिनम जिले में हसन अली और मोहम्मद युसुफुद्दीन के घर पर छापेमारी की गई।

बर्थडे पार्टी में युवक को मारी गोली, अस्पताल में भर्ती

पूछताछ में जुटी एनआईए, जल्द हो सकती है गिरफ्तारी
इन तीनों संदिग्धों से फिलहाल एनआईए पूछताछ करने में जुटी है और इन्हें जल्दी ही गिरफ्तार भी किया जा सकता है। एनआईए ने अपनी छापेमारी की कार्रवाई करते हुए 9 मोबाइल, 15 सिम कार्ड्स, 7 मेमोरी कार्ड्स, 3 लैपटॉप, 5 हार्ड डिस्क, 6 पेन ड्राइव, दो टैबलेट और तीन सीडी और डीवीडी बरामद हुई हैं। इसके अलावा तमाम मैग्जीन्स, बैनर्स, नोटिस, पोस्टर्स और किताबें भी बरामद की गई हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here