ईमानदार करदाताओं की मदद करें और कर चोरी करने वालों से कड़ाई से निपटें अधिकारीः सीतारमण

नई दिल्ली 22 जुलाई, केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को कहा कि भारतीयों ने स्विस बैंकों में कितना कालाधन जमा कर रखा है, इसका सरकार के पास कोई प्रामाणिक अनुमानित आंकड़ा नहीं है। लोकसभा में एक सवाल के जवाब में वित्त मंत्री ने कहा कि हाल में मीडिया में कुछ खबरें आई हैं, जिनमें कहा गया है कि साल 2018 में भारतीयों के स्विस बैंकों में जमा धन में लगभग छह फीसदी की गिरावट आई है।

वित्त मंत्री ने अपने जवाब में कहा कि सरकार स्विट्जरलैंड में भारतीयों के काले धन का पता लगाने और उसपर टैक्स लगाने के लिए लगातार उपाय कर रही है, जिनमें डबल टैक्सेशन अवॉइडेंस अग्रीमेंट (डीटीएए) तथा ऑटोमेटिक एक्सचेंज ऑफ फाइनैंशल अकाउंट इन्फॉर्मेशन शामिल हैं, जिनके तहत भारत को सितंबर 2019 से स्वतः आधार पर स्विट्जरलैंड में भारतीयों द्वारा 2018 और उसके बाद जमा कराए गए पैसों का हिसाब-किताब मिलने जा रहा है।

वॉशिंगटन जाकर पाकिस्तान की जगहंसाई करा रहे हैं इमरान: विपक्ष
निर्मला सीतारमण ने कहा कि भारत ने भ्रष्टाचार से मुकाबले के लिए कई अंतरराष्ट्रीय मंचों जैसे जी20 और ब्रिक्स पर विभिन्न देशों के बीच सहयोग का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि जी20 शिखर सम्मेलन से इतर ब्रिक्स नेताओं की एक अनौपचारिक बैठक के बाद जारी एक संयुक्त बयान में ब्रिक्स नेताओं ने अंतरराष्ट्रीय भ्रष्टाचार रोधी सहयोग और कानूनी रूपरेखा को मजबूत करने पर सहमति जताई है।

वित्त मंत्री ने कहा, ‘नेताओं ने भ्रष्टाचार के खिलाफ मुकाबले के लिए जी20 देशों के बीच उच्च स्तरीय अंतरराष्ट्रीय सहयोग के प्रति प्रतिबद्धता दोहराने की सहमति जताई है।’ सीतारमण ने उल्लेख किया कि सरकार ने सख्त कानून लागू कर देश के भीतर और बाहर काले धन पर प्रहार के लिए कई ठोस कदम उठाए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here