श्रीगंगानगर के सीमा क्षेत्र में सूचना तंत्र को मजबूत करने का चल रहा वर्क : आईजी रुपिन्द्रसिंघ

श्री सिंघ ने पत्रकार के रूप में सतीश बेरी की सेवाओं की भी सराहना की और कहा कि वे एकमात्र पत्रकार थे जो नियमित रूप से उनको फोन करते थे और सूचनाओं की जानकारी का आदान-प्रदान किया करते थे। उन्होंने कहा कि बेरी का स्वयं का सूचना-तंत्र था और वह काफी मजबूत था। वह एक जासूस की भांति हर समाचार की पड़ताल कर उसको प्रकाशित करते थे और यह पुलिस के लिए भी लाभकारी रहता था।

0
102

दो नये पुलिस थाना का प्रस्ताव मुख्यालय भेजा गया : एसपी आनंद शर्मा
श्रीगंगानगर। पुलिस महानिरीक्षक (इंटेलीजेंस) रूपिन्द्रसिंघ का मानना है कि आने वाले वक्त में सीमा क्षेत्र में पुलिस और सीमा सुरक्षा बल ज्यादा मजबूत होगा। सूचना तंत्र भी काफी मजबूती के साथ कार्य करता होगा।

श्री सिंघ सोमवार को पुलिस लाइन के सभागार में पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वे पुलिस मुख्यालय के आदेशानुसार श्रीगंगानगर जिला पुलिस का निरीक्षण करने के लिए आये हैं। उनकी पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा के साथ भी लम्बी वार्ता हुई है। आने वाले समय में पुलिस का नया चेहरा देखने की उम्मीद है। आईजी ने कहा कि कानून व्यवस्था को मजबूत करने को लेकर उनकी लम्बी वार्ता अधिकारियों के साथ हुई है और उसी अनुसारयह दावा किया जा सकता है कि पुलिस ज्यादा मजबूत नजर आयेगी।

उन्होंने कहा कि उन्होंने विजिट का कार्य आधा पूर्ण कर लिया है और उनको कार्य संतोषजनक लगा है। पुलिस लाइन में भी उन्होंने जांच के लिए जो भी आवश्यक प्रक्रिया होती है, उसका भी निरीक्षण किया है। इसी आधार पर वे कह सकते हैं कि वर्तमान में पुलिस ज्यादा बेहतर तरीके से कार्य कर रही है और आने वाले समय में ज्यादा मजबूती के साथ कार्य करती हुई नजर आयेगी।

आईजी (इंटेलीजेंस) ने अपने विभाग से संबंधित कार्यों की जानकारी देते हुए बताया कि सीमा क्षेत्र में सूचना तंत्र को मजबूत करने का प्रयास किया जा रहा है। इसके लिए आवश्यक प्रक्रियाओं को पूर्ण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पंजाब का संगठित ड्रग माफिया श्रीगंगानगर जिले में इसलिए सक्रिय है, क्योंकि पंजाब में बीएसएफ ने अपनी उपस्थिति को ज्यादा मजबूती के साथ प्रदर्शित किया है। श्रीगंगानगर में भी सीमा सुरक्षा बल में कार्यरत कर्मचारियों की संख्या को बढ़ाने का विचार भी केन्द्र सरकार स्तर पर हो रहा है।

पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा ने यह भी बताया कि श्रीगंगानगर में दो नये पुलिस थाना खोले जाने का प्रस्ताव मुख्यालय और सरकार तक पहुंचाया गया है। मीरा चौक चौकी और सेतिया कॉलोनी चौकी को पदोन्नत करते हुए उसको पुलिस थाना बनाये जाने की अनुशंषा की गयी है।
वहीं आईजी ने यह भी बताया कि पुलिस लाइन के कर्मचारियों की मुख्य समस्या यह है कि वहां पर रिहायश करने वाले परिवारों का बिजली बिल ज्यादा आता है। इसका कारण यह है कि पूरे पुलिस लाइन के लिए एक ही मीटर लगा हुआ है। पुलिस कर्मचारियों ने मांग की है कि प्रत्येक कर्मचारी का अपने क्वाटर्र के बाहर मीटर होना चाहिये। इस संबंध में एसपी को आदेशित किया गया है कि वे विद्युत विभाग के अधिकारियों के साथ आवश्यक औपचारिकताओं को पूर्ण करते हुए सभी कर्मचारियों के व्यक्तिगत मीटर लगाने की व्यवस्था करें।

पुलिस महानिरीक्षक रुपिन्द्र सिंघ ने वर्ष 2010-11 के एसपी कार्यकाल को भी याद किया और बताया कि उन्हें श्रीगंगानगर की मीडिया का पूर्ण सहयोग मिलता रहा। उन्होंने एक दशक पुराने क्राइम रिपोटर्स को भी याद किया और बताया कि उनको समय-समय पर सूचनाओं का आदान-प्रदान करने का लाभ यह हुआ कि आंदोलन के बीच भी कानून व्यवस्था को कोई व्यक्ति भंग नहीं कर पाया। उन्होंने मीडिया की सराहना की।

श्री सिंघ ने पत्रकार के रूप में सतीश बेरी की सेवाओं की भी सराहना की और कहा कि वे एकमात्र पत्रकार थे जो नियमित रूप से उनको फोन करते थे और सूचनाओं की जानकारी का आदान-प्रदान किया करते थे। उन्होंने कहा कि बेरी का स्वयं का सूचना-तंत्र था और वह काफी मजबूत था। वह एक जासूस की भांति हर समाचार की पड़ताल कर उसको प्रकाशित करते थे और यह पुलिस के लिए भी लाभकारी रहता था।

VIASatish Beri
SOURCESatish Beri
Previous articleसंयुक्त व्यापार चुनाव में तरसेम गुप्ता फिर विजयी
Next articleपंजाब एण्ड सिंध बैंक का लोन मेला 26 को

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here