सड़क दुर्घटना के आरोपी चालक को नहीं तलाश पाई पदमपुर पुलिस; धरना, जांच एडीशनल एसपी को सौंपी

0
17

श्रीकरणपुर। राजस्थान के श्रीगंगानगर जिले में सड़क दुर्घटना की गुत्थी को लगभग एक माह बाद भी पुलिस सुलझाने में असफल रही है। न्याय की मांग को लेकर सामाजिक न्याय मंच के बैनर तले श्रीकरणपुर वृत्ताधिकरी कार्यालय के समक्ष धरना दिया जा रहा है। वहीं धरने के उपरांत भी वाहन को नहीं तलाशा जा सका तो मामले की जांच रायसिंहनगर एडीशनल एसपी को सौंप दी गयी है।

रियल एस्टेट कारोबारी, उसकी मां ने आत्महत्या की

प्रदर्शनकारी लोगों ने The SandhyaDeep बताया कि सुखदेव मेघवाल पुत्र मोहनलाल निवासी जलौकी ( पदमपुर) की बाइक को अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी थी। यह दुर्घटना 19 मार्च 2022 की शाम को घटित हुई थी।

प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि उन्होंने दी गयी रिपोर्ट में अज्ञात वाहन का जिक्र किया था किंतु पुलिस ने एफआईआर में अज्ञात वाहन को अज्ञात ट्रैक्टर कर दिया।

वहीं प्रदर्शनकारियों का आरोप है कि उन्होंने घटना के उपरांत एक क्षतिग्रस्त बोलेरो के बारे में पुलिस को सूचना दी थी जिसकी मरम्मत का कार्य हो रहा था। उस वाहन चालक ने भी स्वीकार किया था उसका वाहन एक सड़क दुर्घटना में क्षतिग्रस्त हो गया था। पुलिस वाहन चालक को पूछताछ के लिए थाने भी ले गयी इसके उपरांत उसको छोड़ दिया गया।

दूसरी ओर केसरीसिंहपुर पुलिस थाना में एक व्यक्ति को बंधक बनाये जाने के मामले को लेकर भी व्यक्ति ने अपनी पत्नी और उसके तथाकथित पुरुष मित्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया था। इस मामले में भी न्याय की मांग की जा रही है।

श्रीकरणपुर के डीवाईएसपी सुरेन्द्रसिंह राठौड़ ने बताया कि दोनों ही मामलों की जांच चल रही थी और उसकी वे सुपरविजन भी कर रहे थे। उन्होंने बताया कि पुलिस अधीक्षक को प्रदर्शनकारियों ने ज्ञापन दिया था, जिसके उपरांत एसपी ने जांच रायसिंहनगर सैक्टर के एडीशनल एसपी को सौंप दी है।

दूसरी ओर पदमपुर पुलिस थाना के मुख्य आरक्षी चेतराम ने बताया कि उनके द्वारा की जा रही जांच में साइबर सैल का भी सहयोग लिया जा रहा था। उनका कहना है कि जांच के दौरान अभी तक मोबाइल ट्रैस नहीं हो पाया है। इस कारण आरोपी तक पहुंचने में सफलता हासिल नहीं हो पायी।

बचपन में छूट गया पिता का साथ


सुखराम के परिवार को न्याय दिलाने के लिए संघर्ष कर रहे भगवानाराम ने बताया कि परिवार में एक ही व्यक्ति आय का स्रोत था। उसके भी जीवित नहीं रहने के कारण परिवार की दो मासूम बालिकाओं पर कहर बरप गया है। सुखराम स्वयं भी बचपन में ही पिता के साये से वंचित हो गया था। मजदूरी कर किसी तरह से परिवार को चला रहा था। अज्ञात वाहन ने एक ही झटके में उसकी जान ले ली।

डिप्टी जेलर के पति का महिला के साथ अश्लील वीडियो वायरल, मामला दर्ज

VIASandhyadeep Team
SOURCEभाषा
Previous articleबाइडन ने तेल पर रॉयल्टी की दर बढाई
Next articleकागजों में सड़क बनाकर सरपंच-बीडीओ-एइएन डकार गये सरकारी राशि

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here