भूटान के विकास में सहयोग करता रहेगा भारत: मोदी

नयी दिल्ली, 15 अगस्त (वार्ता) प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राजनीति से ऊपर उठकर देशहित में काम करने पर बल देते हुए आतंकवाद से लड़ने और विकास कार्य में हाथ बंटाने का लोगों से गुरुवार को आह्वान किया और कहा कि बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 100 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया जायेगा, लेकिन अब जनसंख्या विस्फोट को रोकने के लिए समाज में जनजागरण फैलाना जरूरी हो गया है।

उन्होंने जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 को हटाकर सरदार पटेल के सपने को पूरा करने तथा ‘एक देश, एक संविधान’ लागू करने का उल्लेख करते हुए कहा कि सत्तर साल में जो नहीं हुआ वह सत्तर दिनों में किया गया है और तीन तलाक जैसी प्रथा को भी दूर किया गया तथा गरीबी दूर करने के लिए जरूरी कदम उठाये जा रहे हैं।


श्री मोदी ने 73वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर ऐतिहासिक लाल किले के प्राचीर से देश की सेना को मजबूत बनाने के लिए तीनों सेनाओं के वास्ते एक नया सेनापति पद शुरू करने की भी घोषणा की और कहा कि जनता के सपने को पूरा करने तथा 21 वीं सदी के भारत के बारे में विचार करने का समय आ गया है। उन्होंने कहा कि पांच साल पहले लोग सोचते थे क्या देश बदल सकता है, लेकिन अब लोग कह रहे हैं देश बदल रहा है।

  ‘एक देश एक संविधान’ के बाद अब ‘एक देश एक चुनाव’ का लक्ष्य : मोदी

प्रधानमंत्री के रूप में छठी बार लाल किले से तिरंगा फहराने वाले श्री मोदी ने कहा, “हम अलग-अलग जरूर सोचते हैं लेकिन सबसे पहले हमारे लिए देश है। राजनीति तो आती जाती रहती है, लेकिन देशहित में कदम उठाना ज्यादा महत्वपूर्ण है।” उन्होंने कहा कि पिछले 70 साल में हर सरकार चाहे वह केंद्र की रही हो या राज्यों की, या जिस किसी पार्टी की, सबने जनता के कल्याण के लिए काम किया है।


श्री मोदी ने देश की सेवा करने के लिए लोगों से छोटा परिवार रखने की सलाह देते हुए कहा, “जनसंख्या विस्फोट हमारे और हमारी आने वाली पीढ़ी के लिए अनेक नये संकट पैदा करता है, लेकिन यह बात माननी होगी कि हमारे देश में एक जागरुक वर्ग भी है, जो इस बात को भलीभांति समझता है।” उन्होंने कहा कि भावी पीढ़ी के समक्ष बढ़ती आबादी को लेकर होने वाली समस्या के मद्देनजर जनसंख्या विस्फोट के लिए जनजागरण चलाना होगा और देश की सेवा करने के लिए छोटा परिवार रखना होगा।

प्रधानमंत्री ने जल संरक्षण पर बल देते हुए कहा कि सरकार आने वाले दिनों में ‘जल जीवन मिशन’ को आगे लेकर बढ़ेगी। उन्होंने कहा, “हम जल जीवन मिशन को लेकर अागे बढेंगे और इसके लिए केंद्र तथा राज्य सरकार मिलकर काम करेंगे एवं आने वाले वर्षों में साढ़े तीन लाख करोड़ रुपये से भी ज्यादा रकम इस मिशन के लिए खर्च करने का हमने संकल्प किया है।” उन्होंने देशवासियों से डिजिटल भुगतान प्रणाली को अपनाने तथा पर्यावरण को सुरक्षित रखने के लिए प्लास्टिक को भी अलविदा करने की अपील की।


 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here