अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव 2024 : क्या MAGA का नारा फिर से बुलंद होगा?

अमेरिका के एक थिंक टैंक का मानना है कि डोनाल्ड ट्रम्प को आगामी राष्ट्रपति चुनाव से वंचित करने के लिए यह एक प्रक्रिया अपनायी जा रही है। अगर ट्रम्प चुनाव नहीं लड़ते हैं तो कौन हो सकता है जो उनका स्थान ले सकता है। अगर लोकप्रियता से अनुमान लगाया जाये तो इवांका ट्रम्प उनकी उत्तराधिकारी हो सकती हैं। वे युवाओं में सबसे ज्यादा लोकप्रिय चेहरा हैं।

0
11

वाशिंगटन (टीएसएन)। अमेरिका में जितनी चर्चा मध्यावधि चुनावों की हो रही है, उससे भी बढ़कर चर्चा का केन्द्र डोनाल्ड ट्रम्प बने हुए हैं। अमेरिका में एक अभूतपूर्व घटना के तहत ट्रम्प के एक संस्थान पर एफबीआई ने रेड की। वहीं न्यूयार्क के अटार्नी जनरल ने आय से अधिक सम्पत्ति के कथित मामले में पूर्व राष्ट्रपति को तलब किया। हालांकि राष्ट्रपति ने अपने व अपने परिवार की आय के बारे में जानकारी देने से इन्कार कर दिया।

श्रीगंगानगर नगर परिषद की लापरवाही से दो मासूम की गयी जान

संयुक्त राज्य अमेरिका में 8 नवंबर को सीनेट और कांग्रेस सदस्यों (संसद) के लिए चुनाव होने हैं। इसको मध्यावधि चुनाव के रूप में भी संबोधित किया जाता है। मुख्य राजनीतिक दल रिपब्लिकन पार्टी और डेमोक्रेटिक पार्टी चुनाव प्रचार में जुटे हुए हैं। इस बीच डोनाल्ड ट्रम्प के संस्थान पर एफबीआई की रेड का समाचार दुनिया में प्रमुखता से प्रकाशित हो जाता है। अभी इस चर्चा की समाप्ति भी नहीं होती कि न्यूयार्क के अटार्नी जनरल ने आय से अधिक सम्पत्ति के मामले में पूर्व पूर्व राष्ट्रपति को तलब कर लिया।

 

डोनाल्ड ट्रम्प ने पहली पत्नी को परिवार सहित दी भावभीनी श्रद्धांजली

वाहनों के काफिले के साथ रवाना होने के उपरांत सोशल मीडिया के जरिये ट्रम्प ने बताया कि उन्होंने अटार्नी जनरल के सवालों के जवाब नहीं दिये। वे उनके और परिवार के बारे में आय के संसाधनों के बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते थे जो संविधान की मूल भावना के अनुरूप नहीं था। उल्लेखनीय है कि अमेरिका में 1970 के दशक में वॉटरगेट कांड सुर्खियों में आया था। एक पत्रकार ने अपनी रिपोर्ट से इस कांड को उजागर किया था। तत्कालीन राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन पर भ्रष्टाचार के आरोप सामने आये थे। उस समय भी एफबीआई या किसी अटार्नी जनरल ने उनको जांच के लिए तलब नहीं किया था। निक्सन ने 1974 में इस्तीफा दिया और इसके साथ ही इस कांड को भुला दिया गया था। वे डेमोक्रेटिक पार्टी से थे, उसी पार्टी से जिस पार्टी से बराक ओबामा और वर्तमान राष्ट्रपति जोई बाइडेन हैं।

अमेरिका के एक थिंक टैंक का मानना है कि डोनाल्ड ट्रम्प को आगामी राष्ट्रपति चुनाव से वंचित करने के लिए यह एक प्रक्रिया अपनायी जा रही है। अगर ट्रम्प चुनाव नहीं लड़ते हैं तो कौन हो सकता है जो उनका स्थान ले सकता है। अगर लोकप्रियता से अनुमान लगाया जाये तो इवांका ट्रम्प उनकी उत्तराधिकारी हो सकती हैं। वे युवाओं में सबसे ज्यादा लोकप्रिय चेहरा हैं।

इवांका ट्रम्प अगर चुनाव लड़ती हैं तो डोनाल्ड ट्रम्प को प्रचार करने में भी परहेज नहीं होगा। उल्लेखनीय है कि 2016 और 2020 के चुनावों में मेक अमेरिका ग्रेट अगेन का नारा खूब उछला था। अमेरिकी लोगों को अधिकाधिक रोजगार के अवसर प्राप्त हों, इसके लिए ट्रम्प ने चीन से आयात पर 370 अरब डॉलर के अतिरिक्त कर लगा दिये थे। आयात कम हुआ तो रोजगार के अवसर बढ़े और अमेरिकी कंपनियों ने चीन को छोड़कर स्वदेश की ओर रुख करना आरंभ कर दिया। वह कंपनियां जो ओबामा के कार्यकाल में चीन में कारोबार के लिए आ गयीं थीं।

वर्तमान में अमेरिका में महंगाई एक बड़ा मुद्दा है और जो बाइडेन महंगाई पर नियंत्रण के लिए ब्याज दरों को बढ़ा रहे हैं। वहीं उनका मानना है कि चीन से आयात कम होने के कारण महंगाई का असर ज्यादा हुआ है। इस कारण चीन से आयात के संबंध में फाइल उनकी टेबल पर है और इस पर कभी भी निर्णय हो सकता है। उस हालात में स्वदेशी सामान को लेकर आंदोलन एक बार पुन: तेज हो सकता है। यह डोनाल्ड-इवांका ट्रम्प के पक्ष में होगा। दूसरी ओर यूएसए में तेल का उत्पादन बढऩे से पेट्रोल प्रति गैलन 4 डॉलर से कम हो गया है। यह काफी समय उपरांत राहत देने वाला कदम माना जा रहा है।

VIASandhyadeep Team
SOURCESandhyadeep Team
Previous articleपवन व्यास हत्याकांड की गुत्थी क्यों नहीं सुलझ पाई?
Next articleश्रीगंगानगर नगर परिषद पार्षदों का कलक्टरी पर प्रदर्शन

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here