captain virat kohli

फ्लोरिडा, 03 अगस्त (वार्ता) भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि आईसीसी विश्वकप में मिली हार उनकी और टीम के लिये बहुत निराशाजनक रही थी , जिसे वह अब पीछे छोड़ना चाहते हैं।

विराट ने विंडीज़ के खिलाफ तीन ट्वंटी 20 मैचों की सीरीज़ के पहले मैच से पूर्व संवाददाता सम्मेलन में बताया कि भारत के टूर्नामेंट से बाहर होने पर उन्हें गहरा झटका लगा था। उन्होंने कहा,“विश्वकप से बाहर होने के बाद उनके लिये कुछ दिन तो काफी मुश्किल थे। जब भी वह सुबह उठते थे तो बहुत खराब अहसास होता था।” हालांकि उन्होंने कहा कि वह अब इस निराशा को पीछे छोड़ना चाहते हैं।

भारत विश्वकप के बाद अपनी पहली सीरीज़ वेस्टइंडीज़ में खेल रहा है जिसकी ट्वंटी 20 सीरीज़ के शुरूआती दो मैच अमेरिका में खेले जाने हैं। कप्तान ने कहा,“ विश्वकप से बाहर होने के बाद पहले कुछ दिन बहुत मुश्किल भरे थे। लेकिन हम पेशेवर खिलाड़ी हैं और आपको अपना जीवन सहजता से पटरी पर लाना होता है। हम आगे बढ़ गये हैं और हर टीम को इस तरह की निराशा से उबरना होता है।”

सात्विकसेराज-चिराग की जोड़ी फाइनल में

उन्होंने कहा,“ हम अब विश्वकप में जो भी हुआ उससे उबर चुके हैं और ठीक हैं। हमने मैच से पूर्व क्षेत्ररक्षण सत्र में हिस्सा लिया और कुछ समय मैदान पर बिताया जो काफी अच्छा था। टीम का हर खिलाड़ी उत्साहित है और मैदान पर अच्छा प्रदर्शन करना चाहता है। आप बतौर एक टीम बस यही कर सकते हैं।”

भारतीय टीम पहले ट्वंटी 20 से पूर्व बारिश के कारण अभ्यास नहीं कर सकी थी लेकिन विराट इससे निराश नहीं हैं। उन्होंने इसे लेकर कहा कि जब वह मैदान पर उतरेंगे तो पिच की समीक्षा करेंगे। आखिरी बार जब टीम ने इस मैदान पर खेला था तब यहां काफी ऊंचे स्कोर वाला मैच रहा था, उम्मीद है कि इस बार भी मैच इसी तरह का रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here