अशोक गहलोत
राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत।

मुख्य बिन्दू
* सोनिया गांधी का विश्वास राजस्थान में अशोक गहलोत पर अटूट रहा है  *राहुल गांधी के त्यागपत्र के बाद सचिन पायलट को अपेक्षाकृत कमजोर मानते हैं कांग्रेसी * रामेश्वरलाल डूडी और डॉ. सीपी जोशी का भी दबदबा कमजोर हुआ


नई दिल्ली/जयपुर, 13 अगस्त। सोनिया गांधी पुन: कांग्रेस की अध्यक्ष बन गयी हैं। इसका असर क्या राजस्थान में भी आगामी दिनों में दिखाई देगा? यह सवाल राजस्थान के कांग्रेस कार्यकर्ताओं में भी हैं और आमजन में भी। हालांकि वर्तमान हालात में कुछ कहा जाना आसान नहीं है किंतु यह संभव है कि सोनिया गांधी के अध्यक्ष बनने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पहले से ज्यादा मजबूत हों।

 

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 1998 में जब पहली बार मुख्यमंत्री बने थे तो उस समय कांग्रेस के  परसराम मदेरणा, नवल किशोर शर्मा सिहत अनेक वरिष्ठ नेता दावेदार थे किंतु तत्कालीन पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने श्री गहलोत को वरीयता दी थी और उन पर विश्वास जताया था। वर्ष 2008 तक कांग्रेस में राष्ट्रीय स्तर पर राहुल गांधी भी काफी सक्रिय थे। उस समय उनको युवा कांग्रेस का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया था।

Read More

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here